परोपकारियों की सूची में 7 भारतीय

परोपकारियों की सूची में 7 भारतीय

हमेशा से माना जाता है कि भारत परोपकारियों का देश है और एक बार फिर से यह बात साबित हो गई है. जी हाँ हाल ही में फोर्ब्स एशिया की हीरोज ऑफ फिलेंथ्रपी की 9 वीं सूची जारी की गई है जिसमे भारतीयों को भी शामिल किया गया है बताया जा रहा है कि इस सूची में एशिया के 13 देशो के द्वारा किये गए परोपकार के कामों को जगह दी गई है. और मामले में यह बात भी बताई गई है कि इन महान हस्तियों में 7 भारतीय शामिल है. साथ ही आपको यह भी बता दे कि इस सूची में 4 लोग भारत कि सबसे बड़ी टेक्नो कम्पनी इंफोसिस है.

तो आइये जानते है उन परोपकारियों के बारे में :-

* उद्यमी सनी वारके को सूची में शीर्ष स्थान दिया गया है, बताया जा रहा है कि उन्होंने बिल गेट्स और वारेन बफे द्वारा शुरू की गई गिविंग प्लेज के अंतर्गत अपनी आधी सम्पत्ति यानी 2.25 अरब डॉलर को कल्याणार्थ देने का संकल्प लिया था.

* इंफोसिस के सहसंस्थापक सेनापति गोपालकृष्णन, नंदन नीलकेणि और एस डी शिबुलाल को स्वास्थ्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में निजी योगदानों को लेकर सूची में स्थान दिया गया है.

* इंफोसिस के ही एक अन्य सहसंस्थापक N R नारायणमूर्ति के बेटे रोहन को भी इस सूची में शामिल किया गया है. बतया जाता है कि रोहन ने भारतीय प्राचीन साहित्य को बढ़ावा देने के लिए हावर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस को 52 लाख डॉलर दिए हैं.

* इस सूची में इनके अलावा सुरेश रामकृष्णन और महेश रामकृष्णन भी शामिल है. इनके विषय में यह बताया जाता है कि ये दोनों भाई लंदन के उद्यमी हैं और सोनों भाइयों के द्वारा भारत में 4000 से ज्यादा लोगों को सिलाई प्रशिक्षण दिलवाने के लिए 30 लाख डॉलर दान में दिए थे.