नमो एप के जरिये आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को पीएम मोदी का गुरु मंत्र

Sep 11 2018 11:46 AM

नई दिल्ली: पधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज नमो एप के जरिये आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को सम्बोधित का रहे हैं. इस दौरान उन्होंने बच्चों के पोषण के बारे में बताते हुए कहा कि  देश की हर मां पर बच्चों को मजबूत करने का जिम्मा है. पोषण यानी खानपान. टीकाकरण. स्वच्छता. ऐसा नहीं है कि पहले लोग इस बारे में जानते नहीं थे. पहले इसकी कोई योजना नहीं थी. इन तमाम बातों में पहले बहुत अधिक सफलता नहीं मिली. बहुत कम संसाधनों वाले देश भी इस मामले में हम से आगे निकल गए हैं.

जम्मू-कश्मीर: सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़, 2 आतंकी हुए ढेर

उन्होंने कुपोषण से लड़ने के लिए भारत की रणनीति के बारे में बताते हुए कहा कि हमारी सरकार 2014 से ही बच्चों के उत्थान के लिए काम कर रही है. उन्होंने कहा कि हमने टीकाकाण को दूर-दराज़ के इलाकों तक पहुँचाने का काम किया है, साथ ही इसके तहत हमने 3 करोड़ से ज्यादा बच्चों और 85 लाख से ज्यादा महिलाओं का टीकाकरण कराया है. अनेमिया के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि वर्तमान में अनेमिया प्रतिवर्ष एक फीसदी की दर से घट रहा है.

गणेश चतुर्थी 2018: कदमा में बनेगा 100 साल के इतिहास का सबसे भव्य पंडाल

आंगनबाड़ी की कार्यकर्ताओं की तारीफ करते हुए मोदी ने कहा था कि पहले भगवान के हजार बाहु थे. इसका मतलब यह नहीं है कि उनके हाथ निकले हुए थे. उनके पास ऐसे लोग थे जो उनकी तरफ से काम करते थे. आप लोग पीएम मोदी के हाथ हैं. उन्होंने कहा कि पहले एक आशा कार्यकर्ता को नवजात के जन्म के 42 दिनों तक मात्र 6 बार बच्चे के घर जाना होता था, लेकिन वर्तमान नियम के मुताबिक अब नवजात की 15 महीने की उम्र तक आशा कार्यकर्ता को उसके हाल-चाल जानना जरुरी है. आपको बता दें कि मोदी सरकार ने राजस्थान के झुंझुनू से पोषण अभियान की शुरुआत की थी. 

खबरें और भी:-​

50 साल तक बीजेपी को कोई नहीं हरा सकता :अमित शाह

लौह पुरुष की विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा बनकर हुई तैयार

2019 में बीजेपी कर देगी सभी दलों का सफाया : सीएम योगी

Related News