इमरान की पूर्व पत्नी जेमिमा का आरोप, कट्टरपंथियों के इशारे पर चल रही पाक सरकार

Sep 09 2018 06:01 PM

 

लंदन: पाकिस्तान के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री इमरान खान कि पूर्व पत्नी जेमिमा गोल्डस्मिथ ने प्रसिद्ध अर्थशास्त्री आतिफ मिलान के नामांकन को हटाने पर पाकिस्तान सरकार पर आरोप लगाए हैं. उन्होंने एक ट्वीट करते हुए कहा कि पाक सरकार की ओर से नवगठित आर्थिक सलाहकार परिषद (ईएसी) से मशहूर अर्थशास्त्री आतिफ मियां का नामांकन वापस लेना गलत है.

भूकंप के बाद जापान में आई एक और गंभीर समस्या, सैंकड़ों सुअरो को मारा गया

जेमिमा ने जिन्नाह के वक्तव्य का उदहारण देते हुए कहा कि जिन्ना ने कहा था कि आप स्वतंत्र हैं; आप अपने मंदिरों में जाने के लिए स्वतंत्र हैं, आप पाकिस्तान के इस राज्य में अपनी मस्जिदों या पूजा के किसी अन्य स्थान पर जाने के लिए स्वतंत्र हैं, आप किसी भी धर्म, जाति के पंथ से संबंधित हो सकते हैं जिसका राज्य के व्यापार से कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने आरोप लगाया है कि पाकिस्तान सरकार ने आतिफ मियां के अहमदिया संप्रदाय से होने के कारण कट्टरपंथियों के दबाव में आकर उन्हें ईएसी की सदस्यता छोड़ने को कहा था. कट्टरपंथियों के दबाव में आकर शुक्रवार को इमरान खान की अगुआई वाली सरकार ने मशहूर अर्थशास्त्री मियां का नवगठित आर्थिक परिषद से नामांकन ले लिया था. 

आरिफ अल्वी आज लेंगे पाक के नए राष्ट्रपति की शपथ

आपको बता दें कि  पाकिस्तान के संविधान में अहमदियों को गैर-मुस्लिम घोषित किया गया है, कई इस्लामी विचारधाराओं में उनकी मान्यताओं को ईशनिंदा माना जाता है. मियां को हाल ही में ईएसी के सदस्य के तौर पर नामित किया गया था. वे ‘शीर्ष 25 प्रतिभाशाली युवा अर्थशास्त्रियों' की अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष सूची में इकलौते पाकिस्तानी हैं, उन्होंने मैसाचुसेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से पढ़ाई की है, तथा वे प्रतिष्ठित प्रिंस्टन यूनिवर्सिटी में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर भी हैं.

खबरें और भी:-​

जापान भूकंप : मृतकों की संख्या 40 हुई , बचाव कार्य जारी

शिकागो से नायडू की आवाज़, कहा सारा विश्व भारत की ओर देख रहा है

पाकिस्तानी महिला ने दिखाई छोटी बच्ची पर क्रूरता

Related News