janmashtami

भारतीय संस्कृति और हिन्दू धर्म के परिचायक भगवान श्री कृष्ण के जन्मोत्सव को देश-दुनिया में जन्माष्टमी के रूप में मनाया जाता है. हर किरदार भाई, मित्र, प्रेमी, पुत्र को उन्होंने सदा-सदा के लिए अमर कर दिया. आज भी माताएं अपने बालक को कान्हा कहकर बुलाती है, तो वहीं प्रेमिकाएं अपने प्रेमी में कान्हा को तलाशती है. भाद्रपद माह में कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को श्री कृष्ण ने मध्यरात्रि में रोहिणी नक्षत्र में जन्म लिया था. श्री कृष्ण के जन्म का उत्सव मनाना भगवान को भक्तों की तरफ से एक छोटी सी भेंट होती है. जब भी जन्माष्टमी आती है, तो हर कोई कृष्णमय हो जाता है. 

News About janmashtami