Zomato : कंपनी ने कर्मचारियों को दिया तगड़ा झटका, सैलरी हुई आधी

भारत में कोरोना वायरस महामारी का तीसरा चरण चल रहा है और इस बीच ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनी जोमैटो के कर्मचारियों के लिए एक बुरी खबर सामने आई है. जोमैटो ने अपने 13 फीसद कर्मचारियों को नौकरी से बाहर करने का निर्णय लिया है. साथ ही कंपनी ने अपने शेष कर्मचारियों की सैलरी में 50 फीसद तक कटौती करने का निर्णय लिया है. कोरोना वायरस के चलते लागू देशव्यापी लॉकडाउन के कारण डिमांड में कमी आने से जोमैटो को यह फैसला लेना पड़ा है.

ग्राहकों के पास पहुंचने वाला है रिटेल बाजार, जानें कैसे

शुक्रवार को जोमैटो ने कहा कि कंपनी अपने 13 फीसद कर्मचारियों को नौकरी से बाहर करेगी और कर्मचारियों के वेतन में अगले छह महीने तक 50 फीसद तक की कटौती की जाएगी. वेतन में यह कटौती जून महीने से होगी. कंपनी के वरिष्ठ कर्मचारियों के वेतन में 50 फीसद की कटौती की जाएगी.

जानिए क्या है ईपीएफ में कटौती ?

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि कंपनी के फाउंडर और सीईओ दीपिंदर गोयल ने शुक्रवार को अपने कर्मचारियों से कहा, 'हम ऐसा पाते हैं कि हमारे सभी कर्मचारियों के लिए भविष्य में पर्याप्त काम नहीं रहेगा.' गोयल ने कहा कि कंपनी को आने वाले खराब समय के लिए खुद को तैयार करने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि पिछले कुछ महीनों में उनके व्यवसाय में बड़े अभूतपूर्व बदलाव आए हैं और इनमें से कई बदलावों के स्थायी रहने की उम्मीद है.

अगर बिना टेंशन बिताना है रिटायरमेंट तो, यहां करें निवेश

आर्थिक पैकेज के बाद भी शेयर बाजार में सुधार नहीं, 200 अंक टूटा सेंसेक्स

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने जारी किए बाजार मूल्यांकन के आंकड़े

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -