जिन्दगी मुझे रास आ रही है

ेरे बगैर जिन्दगी मुझे रास आ रही है! 
तेरी आरजू मगर मेरे पास आ रही है! 
जागी है फिर से लहरें यादों की इसतरह़, 
जिग़र में तेरी प्यास बदहवास आ रही है!

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -