Zero Review : कॉन्सेप्ट दमदार होने के बाद भी मात खा रही बउआ सिंह की कहानी

Dec 21 2018 12:12 PM
Zero Review : कॉन्सेप्ट दमदार होने के बाद भी मात खा रही बउआ सिंह की कहानी

शाहरुख़ खान की मच अवेटेड फिल्म 'जीरो' रिलीज़ हो चुकी है जिसका सभी बेसब्री से इंतज़ार कर रहे थे. फिल्म में शाहरुख़ के बौने किरदार को देखने के लिए सभी बेताब थे और ये इंतज़ार खत्म हुआ और सभी फिल्म देख चुके. तो आप भी जानना चाहते होंगे कि फिल्म किसी रही. वही हम आपको बताने जा रहे है यानि फिल्म का फिल्म का पब्लिक रिव्यु. आइये जानते हैं.

कलाकार- शाहरुख खान,सलमान खान,अनुष्का शर्मा,कटरीना कैफ 

निर्देशक - आनंद एल. रॉय 

मूवी टाइप - रोमांस,ड्रामा

अवधि - 2 घंटा 44 मिनट

रेटिंग - 2 / 5 

कहानी : बउआ सिंह (शाहरुख खान) मेरठ का रहने वाला एक ऐसा शख्स है जो वर्टिकली चैलेंज्ड है यानी उसका कद बहुत कम है जिसे लोग बौना कहते हैं, लेकिन वह दिल का बेहद अच्छा इंसान है. उसे आफिया (अनुष्का शर्मा) नाम की एक वैज्ञानिक से प्यार हो जाता है. आफिया सेरेब्रल पाल्सी से पीड़ित है. दोनों की यह अनूठी प्रेम कहानी भारत से अमेरिका पहुंच जाती है और वहां से अंतरिक्ष. इस प्रेम कहानी के सफर में बउआ और आफिया की ज़िंदगी में कई मुश्किलें आती हैं. इसके बाद उनके बीच फिल्म की हीरोइन बबिता से भी  मुलाकात होती है जिसके बाद तीनों में लव ट्राइंगल बताया गया है. इस दौरान उनके बीच कई मुसीबतें आती हैं. बउआ वर्टिकली चैलेंज्ड है और आफिया सेरेब्रल पाल्सी से पीड़ित और दोनों की यही कमियां उनके नए रिश्ते की नींव रखती हैं.  दोनों की पर्सनैलिटी में जमीन-आसमान का फर्क है और यही फर्क फिल्म की कहानी का मजबूत स्तंभ बनता है. इसी बीच बॉलिवुड ऐक्ट्रेस बबीता कुमारी की फिर से बउआ और आफिया की ज़िंदगी में एंट्री होती, जिससे और भी ड्रामा शुरू हो जाता है. 

रिव्यू : एक उम्दा कॉन्सेप्ट के लिए जरूरी होता है कि उसका निर्माण सकुशल समान रूप से किया जाए, लेकिन हर अच्छी कहानी को वह ट्रीटमेंट नहीं मिलता है, जिसकी वह हकदार है. यानी कहानी अलग है लेकिन उतनी दमदार नहीं लगी जिसके चलते ये मात खा सकती है. हालाँकि अब तक इस फिल्म को ठीक ठाक ही रिव्यु मिल रहे हैं. 'जीरो' की कहानी बेहद दिलचस्प है और इसका कॉन्सेप्ट भी उतना ही प्रेरणादायक है.

क्या देखें : अगर आप कुछ खास देखने की तलाश में हैं तो जरूर देखें इस फिल्म को. मेरठ से लेकर मंगल तक की इस कहानी को विज्ञान, ग्रहों के बीच के सफर और अविश्वसनीय प्यार जैसे विचारों के साथ दिखाया गया है. फिल्म का कांसेप्ट बहुत ही अच्छा है जिससे आप इम्प्रेस हो सकते हैं लेकिन ऐसा करने के चक्कर में यह फिल्म कई जगह मात खा जाती है. 

शाहरुख़ की 'जीरो' देख सेलेब्स ने बताया कैसी है फिल्म? इन्होने दिया सिर्फ 1 स्टार

मौत के 10 महीने बाद आज रिलीज़ हुई श्रीदेवी की आखिरी फिल्म

अनुष्का शर्मा के इस लुक ने मचाया बवाल