मलेशिया की सख्ती से डरा जाकिर नाइक, नस्लीय टिप्पणी के लिए मांगी माफ़ी

Aug 20 2019 11:46 AM
मलेशिया की सख्ती से डरा जाकिर नाइक, नस्लीय टिप्पणी के लिए मांगी माफ़ी

कुआलालम्पुर: मलेशिया में विवादित इस्लामिक धर्मगुरु जाकिर नाइक की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। इसके बाद अब भगोड़े जाकिर नाइक ने गैर-मुस्लिमों के खिलाफ दिए गए बयान पर माफी मांग ली है। जाकिर नाइक ने एक बयान में कहा है कि वह जातिवादी नहीं है और उसकी टिप्पणी को तोड़-मरोड़कर प्रस्तुत किया गया है । 

जाकिर नाइक ने एक बयान जारी करते हुए खुद को शांतिदूत बताया है। ज़ाकिर नाइक ने अपने बयान में कहा है कि, 'मैं शांति में विश्वास रखता हूं क्योंकि कुरान भी इसी पर आधारित है। मेरा उद्देश्य दुनियाभर में शांति को फैलाना है। किन्तु दुर्भाग्यवश मुझे आलोचकों का भी सामना करना पड़ता है, जो मुझे मेरा मिशन पूरा करने से रोकते हैं। कुछ दिनों से मुझे नस्लीय टिप्पणी का आरोपी बताया जा रहा है और मेरे विरोधी कुछ विशेष शब्दों का इस्तेमाल कर उन्हें तोड़-मरोड़कर पेश कर रहे हैं'।

उल्लेखनीय है कि मलेशिया में 3 अगस्त को जाकिर नाइक ने हिंदुओं और मलेशिया के जातीय चीनियों के खिलाफ आपत्तिजनक भाषण दिया था। ज़ाकिर नाइक को सोमवार को दोबारा पूछताछ के लिए बुलाया गया था, जहां उससे 10 घंटे तक सवाल जवाब किए गए। अल्पसंख्यकों के खिलाफ दिए गए नाइक के बयान के बाद मलेशिया में उसके खिलाफ 115 पुलिस रिपोर्ट्स दर्ज की जा चुकी हैं।

भगोड़े इस्लामिक धर्मगुरु जाकिर नाइक की मुश्किलें बढ़ीं, पूरे मलेशिया में नहीं दे सकेगा उपदेश

भारत-अमेरिका के सामने नतमस्तक पाकिस्तान, मोदी-ट्रम्प की जोड़ी ने आफत में डाली जान

किसी भी छुट्टी में कर सकते हैं इन देशों की सैर...