IPL के पहले ही सीजन में छा गया था भारतीय टीम का ये मशहूर खिलाड़ी

इंडियन क्रिकेट टीम के सबसे ताकतवर खिलाड़ियों में से एक यूसुफ पठान आज अपना जन्मदिन मना रहे है। वडोदरा में जन्मा ये प्लेयर आज 39 वर्ष का हो गया है। यूसुफ पठान का करियर उनके टैलेंट के अनुसार, अधिक लंबा नहीं रहा किन्तु अपने छोटे से करियर में उन्होंने 2 विश्व कप जीते। यूसुफ पठान वर्ष 2007 टी20 विश्व कप तथा 2011 विश्व कप विजेता टीम का भाग रहे हैं। विश्व कप 2011 जीतने के पश्चात् सचिन को अपने कंधे पर यूसुफ पठान ने ही उठाया था। आइए आपको बताते हैं उनके करियर की बड़ी बातें... 

यूसुफ पठान का जन्म एक बहुत ही निर्धन परिवार में हुआ था। निर्धनता ऐसी थी कि यूसुफ के घर पर टॉयलेट तक नहीं बना था। हालांकि ये निर्धनता भी यूसुफ एवं उनके छोटे भाई इरफान का टैलेंट नहीं रोक पाई। यूसुफ पठान अपने भाई इरफान के साथ मस्जिद के प्रांगण में ही क्रिकेट खेला करते थे। देखते ही देखते दोनों भाइयों ने भारतीय टीम तक का सफर तय किया। 

वही यूसुफ पठान को इंडियन क्रिकेट के सबसे बड़े हिटर्स में से एक माना जाता है। IPL के प्रथम ही सीजन में यूसुफ पठान ने सिर्फ 37 गेंदों में मुंबई इंडियंस के विरुद्ध शतक ठोक दिया था। 4 सीजन तक उनका रिकॉर्ड बरकरार रहा क्योंकि उसके पश्चात् 2013 में क्रिस गेल ने सिर्फ 30 गेंदों में शतक ठोक यूसुफ का रिकॉर्ड तोड़ दिया। हालांकि यूसुफ आज भी IPL में सबसे तेज शतक लगाने वाले भारतीय हैं। यूसुफ पठान का टी20 डेब्यू तो जबरदस्त ही था। वर्ष 2007 टी20 विश्व कप के फाइनल से पूर्व वीरेंद्र सहवाग को चोट लग गई तथा एमएस धोनी ने यूसुफ पठान को उनके स्थान पर अवसर दिया। धोनी ने यूसुफ पठान को ओपनिंग पर उतार दिया तथा इस प्लेयर ने सिर्फ 8 गेंदों में 15 रन ठोक भारतीय टीम को जबरदस्त शुरुआत दिलाई। 

खेल पुरस्कार पाने वालों को कोहली ने दी बधाई, यहाँ देखें सम्मानितों की पूरी सूची

क्रिकेट में भ्रष्टाचार: 'कप्तानों पर रहता है सट्टेबाज़ों का फोकस, T-20 उनका पसंदीदा फॉर्मेट'

'5 करोड़ की घड़ी' विवाद पर हार्दिक ने दी सफाई, Twitter पर कही मन की बात

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -