आंध्र प्रदेश के सियासी दलों का मामला राष्ट्रपति तक पहुंचा, YSR कांग्रेस के नेताओं ने की मुलाकात

विशाखापत्तनम: आंध्र प्रदेश की सत्तारूढ़ पार्टी YSR कांग्रेस और विपक्षी तेलुगू देशम पार्टी (TDP) के बीच का विवाद मंगलवार को राष्ट्रपति भवन तक पहुंच गया है। YSR कांग्रेस के नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को राष्ट्रपति भवन जाकर प्रेसिडेंट रामनाथ कोविंद से अपील की है कि वह TDP की मान्यता निरस्त कर दें।

प्रतिनिधिमंडल के सदस्य और सांसद वी विजयसाईं ने कहा कि, 'हमारे सारे सांसदों ने आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ मुलाकात की और उन्हें बताया कि कैसे TDP के नेताओं और कार्यकर्ताओं, विशेष तौर पर चंद्रबाबू नायडू, उनके बेटे लोकेश और प्रवक्ता पत्ताभी द्वारा हमारे नेता जगन मोहन रेड्डी के लिए गंदी भाषा का उपयोग किया जाता है। हमने राष्ट्रपति से अपील की है कि वे TDP को अमान्य घोषित कर दें।'

रेड्डी ने यह भी कहा कि TDP आतंकी पार्टी बन चुकी है, असामाजिक पार्टी बन गई है। उन्होंने आगे कहा कि, 'TDP के पास लोगों का विश्वास नहीं, यह पार्टी लोकतांत्रिक मूल्यों पर नहीं चलती। इसलिए, एक ऐसी पार्टी जो लोकतंत्र में यकीन नहीं करती, वह चुनाव लड़ने का नैतिक अधिकार भी खो देती है।'

परमबीर सिंह ने देश छोड़ने से पहले महाराष्ट्र छोड़ा होगा.. किसने भगाया ?

इस्लाम का उदाहरण देकर विजयवर्गीय ने ममता बनर्जी को घेरा, उपचुनाव परिणामों पर कही ये बात

संयुक्त राष्ट्र प्रतिनिधि ने कहा- "सूडान संकट का समाधान मध्यस्थता से किया जा रहा..."

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -