तेलंगाना: कांग्रेस प्रमुख ने YS शर्मिला की नई पार्टी को लेकर कसा तंज, बोले- ‘NGO से ज्यादा कुछ नहीं’

हैदराबाद: तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी (टीपीसीसी) के प्रमुख रवंत रेड्डी ने आज यानी रविवार को वाईएसआर तेलंगाना की नई पार्टी पर हलमा बोला है। जी दरअसल यह पार्टी हाल ही में वाईएस शर्मिला द्वारा स्थापित की गई है। ऐसे में रवंत रेड्डी ने कहा, 'ये एक एनजीओ से ज्यादा कुछ नहीं है, उनकी पार्टी ने अभी तक कोई ‘राजनीतिक दृष्टिकोण’ नहीं बनाया है।'

इसी के साथ कांग्रेस नेता ने यह भी कहा कि, 'शर्मिला, जो आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वाईएस राजशेखर रेड्डी की बेटी और वर्तमान मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी की छोटी बहन हैं ने अभी तक तेलंगाना के लोगों की समस्याओं का समाधान नहीं किया है। आज तक, शर्मिला का दृष्टिकोण एक एनजीओ NGO के दृष्टिकोण की तरह है और उसने अभी तक कोई राजनीतिक दृष्टिकोण नहीं बनाया है।' आगे उन्होंने कहा, ''वाईएस शर्मिला और उनकी पार्टी द्वारा तेलंगाना के लोगों की समस्याओं पर कोई महत्वपूर्ण दृष्टिकोण नहीं बनाया गया है।'' उन्होंने तेलंगाना में मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के दृष्टिकोण पर भी प्रहार किया। उन्होंने इसे एक तानाशाही दृष्टिकोण बताया।

उन्होंने कहा, “नए स्थापित राज्य के विकास के लिए काम करने के बजाय, केसीआर (KCR) तेलंगाना को अपनी संपत्ति के रूप में सोचते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि वह वही हैं जो तेलंगाना आंदोलन के सामने खड़े थे। उन्हें समझना चाहिए कि तेलंगाना के लोगों ने वोट दिया है सुनिश्चित करें कि राज्य में लोकतंत्र का पालन किया जाता है और नीति-निर्माण और संशोधन में सरकार को सलाह देने के लिए हमें विपक्षी दल के रूप में चुना है।” आपको बता दें कि आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी की बहन वाईएस शर्मिला ने सक्रिय राजनीति में कदम रखते हुए बीते गुरुवार को तेलंगाना में आधिकारिक तौर पर राजनीतिक संगठन ‘वाईएसआर तेलंगाना पार्टी’ का गठन किया है।

झारखंड में आज है सम्पूर्ण लॉकडाउन

कर्नाटक के 19वें राज्यपाल बने थावरचंद गहलोत , ली शपथ

बेटे के अपहरण की रिपोर्ट लिखाने थाने गई महिला के साथ की बदतमीजी, घर आकर महिला ने उठाया बड़ा कदम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -