इस शहर के युवा क्रिकेटर ने बढ़ाया प्रवासी मजदूरों के लिए मदद का हाथ

कोरोना वायरस महामारी के समय में हर कोई विवश व मेहनतकश लोगों की मदद के लिए आगे आ रहा है. बड़े क्रिकेटरों की तरह छोटे क्रिकेटर यानी युवा खिलाड़ी भी अपने-अपने ढंग से लोगों की मदद कर रहे हैं. इस लिस्ट में अब मुंबई के लिए खेलने वाले उत्तर प्रदेश के युवा क्रिकेटर सरफराज खान भी शामिल हो गए हैं, जो बाहर के प्रदेशों से उत्तर प्रदेश में आ रहे प्रवासी मजदूरों को खाने के पैकेट बांटने का कार्य कर रहे हैं. कोरोना वायरस के बीच कार्य छूटने की वजह से प्रवासी मेहनतकश अपने-अपने घर लौट रहे हैं. ऐसे में रास्ते में खाने-पीने के लिए उनको कठिनाई का सामना करना पड़ा रहा है. यही कारण है कि सरफराज खान ने खाना वितरित करके सैकड़ों लोगों की मदद की है. दाएं बाथ के बल्लेबाज व मुंबई के लिए इसी सीजन में तिहरा शतक ठोकने वाले सरफराज खान आजमगढ़ के रहने वाले हैं व वे यहीं अपने भाई व पिता के साथ मिलकर मजदूरों खाने के पैकेट बांट रहे हैं.

किंग्स इलेवन पंजाब के लिए आइपीएल 2020 में उतरने के लिए तैयार सरफराज खान अपने गांव में ही रह रहे हैं. यहां तक कि उनके परिवार ने इस बार ईद नहीं मनाने का निर्णय किया है. सरफराज खान ने आउटलुक से बात करते हुए बोला है, "जब हम बाजार जाते हैं तो देखते हैं कि सैकड़ों लोग सड़क से जा रहे हैं व ऐसे में हमने उनकी मदद करने का निर्णय लिया. ये मेरे पिता का विचार था कि प्रवासी मजदूरों की कैसी मदद की जाए."

सरफराज के पिता नौशाद खान ने बोला है कि वे अब तक हजारों पैकेट खाना जरूरतमंदों को बांट चुके हैं व लगातार ऐसा कर रहे हैं. उन्होंने जानकारी दी है कि इस पैकेट में एक सेब, एक केला, केक बिस्कुट व पानी की बोतल है. सरफराज खान व उनके परिवार के इस सराहनीय काम का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. सरफराज के भाई ने बताया है कि उन्होंने इस बार प्रवासी मजदूरों की मदद की वजह से ईद नहीं मनाने का निर्णय किया है.

दुती चंद का बड़ा बयान, कहा- 'वार्म-अप में लगेगा समय...'

जानिए आखिर क्यों इस पाकिस्तानी खिलाड़ी ने पीसीबी के WHATS APP ग्रुप से किया लेफ्ट

आखिर क्यों नहीं कर पाएंगे रोहित और रहाणे क्रिकेट की प्रैक्टिस

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -