बाजारों में सज गई है राखियों की दुकाने, ट्रेंडिंग में है इस तरह की राखियां

भाई-बहन का रिश्ता दोस्ती और सुरक्षा का है, जब माता-पिता की डांट से बचना है तब भाई या बहन ही हमें इस मुसीबत से बचाते है. इस रिश्ते को सेलिब्रेट करने का मौका रक्षाबंधन का शुभ पर्व भी आ रहा है. इस मौके पर बहन अपने भाई को राखी बांधती है और भाई उन्हें तोहफा देते है, साथ ही उम्र भर बहन की सुरक्षा का वादा करते है. 7 अगस्त को रक्षाबंधन पर्व के लिए बाजार में राखी की दुकानें सज गई है.

इस शुभ पर्व पर महिलाएं और युवतियां भाइयों के लिए अमेरिकन डायमंड, रजवाड़ी डोरी और स्टोन वाली राखियां खरीद रही है, साथ ही बच्चो में डोरेमॉन, लाइट, म्यूज़िक वाली रखियो की मांग है. उज्जैन शहर में आगररोड पर सामाजिक न्याय केंद्र, गोपाल मंदिर पर पुराने नगर निगम भवन पर कई दुकानें राखियों से सजी हुई है. यहां आने वाली महिलाएं और युवतियां जरी, फोम, सितारे वाली पारंपरिक राखी खरीदने के साथ-साथ नई वैरायटी की राखी भी अमेरिकन डायमंड, रजवाड़ी डोरी, भैया-भाभी की जोड़ व चूड़ा राखी भी खरीदी जा रही है.

जीएसटी लागू होने के बाद राखी का त्यौहार पहली बार आया है. जब इस बारे में व्यापारियों से पूछा तब जवाब मिला कि नियम अनुसार 12 प्रतिशत जीएसटी लगेगा किन्तु राखी की तैयारी पहले ही हो चुकी है, अधिकतर माल पहले से ही खरीदा जा चूका था, इसलिए जीएसटी का असर नाममात्र रहेगा. फ़िलहाल बाजार में स्टोन वाली राखियां 5 से 500 रुपए नग, जरी 2 से 15 रुपए नग में राखी उपलब्ध है.

ये भी पढ़े 

इस घर को देखकर आप हैरान रह जाएंगे, उल्लुओं की तरह है इसका लुक

अमेरिका ने पाकिस्तान को आतंकियों का पनाहगाह देश बताया

एक लाख का ईनामी बदमाश भीम गिरफ्तार

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -