युवा मतदाता तय करेंगे पाकिस्तान का भविष्य

इस्लामाबाद: पाकिस्तान में जुलाई माह में आम चुनाव होने जा रहे हैं, जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान में आम चुनाव 25 से 27 जुलाई के बीच हो सकते हैं. पाकिस्तान का अगला पीएम कौन होगा इसका फैसला पाकिस्तान के 10 करोड़ 50 लाख मतदाताओं में से करीब चार करोड़ 60 लाख युवा मतदाताओं के मत पर बहुत हद तक निर्भर करेगा. पाकिस्तान चुनाव आयोग की वेबसाइट पर दिए गए आंकड़ों के मुताबिक पाकिस्तान के छह प्रांतों में कुल पांच करोड़ 92 लाख पुरुष और चार करोड़ 67 लाख महिलाओं के नाम मतदाता सूची में शामिल हैं.

31 मई को पाकिस्तान मुस्लिम लीग- नवाज (पीएमएल-एन) की अगुवाई वाली मौजूदा सरकार अपना कार्यकाल पूरा कर लेगी, इसके बाद एक कार्यवाहक सरकार की देखरेख में चुनाव कराए जाएंगे. पाकिस्तान में सत्ता के लिए मुकाबला प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी की पार्टी सत्तारूढ़ पीएमएल-एन, क्रिकेटर से नेता बने इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) और पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के बीच होने वाला है.

इसपर चुनाव विशेषज्ञों का कहना है कि इस बार सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वाले युवा दुनिया की छठी सबसे ज्यादा आबादी वाले देश में किसकी सरकार बनेगी इसमें निर्णायक भूमिका निभाएंगे. विशेषज्ञों का मानना है कि सोशल मीडिया का उपयोग करने वाले युवा,  इंटरनेट के जरिये चुनाव सम्बन्धी अपने विचारों को तेजी से फैला सकते हैं , जो आवाम को प्रभावित कर सकते हैं. 

एनआईए लश्कर के दस आतंकियों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया

घुसपैठ की साजिश नाकाम, 5 आतंकी ढेर

भाईजान नहीं इस बार ईद पर माहिरा आ रही हैं ईदी लेने

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -