आरक्षण का अनोखा मामला जिसे पढ़कर आप भी चौंक जायेंगे

Feb 25 2016 08:05 AM
आरक्षण का अनोखा मामला जिसे पढ़कर आप भी चौंक जायेंगे

नई दिल्ली ( 24 फरवरी): आपने पढाई के प्रति कुछ जुनूनी लोगों के बारें में जरुर सुना और देखा होगा. कुछ लोग अपनी पढाई पूरी करने के लिए कोई भी परेशानी उठाने को तैयार रहते हैं. लेकिन हम जो मामला आपको यहाँ बताने जा रहे हैं यक़ीनन उसे पढ़कर आप सोचनें पर मजबूर हो जायेंगे कि लोग आरक्षण का फायदा किस हद तक उठाते हैं.

ये मामला बिहार के दरभंगा मेडिकल कॉलेज का हैं. यहाँ एक छात्र ऐसा हैं जो पिछले 20 सालो में अपनी MBBS कि पढाई पूरी नही कर पाया हैं. वो लगातार 20 सालों से सेकंड ईयर में फेल हो रहा हैं. जिससे परेशान होकर उसनें प्रोफ़ेसर सें उसे पास करने कों कहा. प्रोफ़ेसर के इंकार करने पर इस छात्र नें प्रोफ़ेसर कों मैसेज करके आत्म हत्या करने कि धमकी दे दी. इसकी जानकारी फ्रोफेसर नें प्रिंसिपल कों दी और प्रिंसिपल नें पुलिस में इसकी रिपोर्ट कि जिस वजह से ये मामला प्रकाश में आया हैं.

इस छात्र का नाम कपिलदेव चौधरी हैं इसने 1995 में बिहार के दरभंगा मेडिकल कॉलेज में दाखिला लिया था. प्रथम वर्ष पूरा करने के बाद इसने दूसरें वर्ष में नामांकन कराया. किन्तु वो दूसरें वर्ष में लगातार 20 वर्षो सें फेल हो रहा हैं. वैसे तो नियम ये हैं कि यदि कोई जनरल कैटेगरी का छात्र 2 साल लगातार फेल होता हैं तो उसे कॉलेज से नकाल दिया जाता हैं. किन्तु कुछ कोटे कि वजह सें कुछ छात्रों पर ऐसी कोई बाध्यता नही होती हैं. इसलिए कपिदेव कों आज तक कॉलेज सें नही निकाला गया हैं.

प्रोफ़ेसर नें बताया कि वो लगातार 20 सालों सें सेकंड ईयर कें क्लीनिकल विषय के पेपर में फेल हो रहा हैं. वो क्लीनिकल में कुछ भी ठीक सें नही लिख पाता हैं. इसलिए उसे फेल कर दिया जाता हैं. जिससे तंग आकर उसने प्रोफ़ेसर कें नंबर पर मैसेज करना शुरू कर दिया तथा पास करने का अनुरोध करने लगा.

ये मैसेज करता था कपिल 
52 साल के कपिल ने मेडिसिन विभाग के डॉ बीके सिंह को मोबाइल फोन पर मैसेज किया था सर में डॉक्टर बन कर देश कि सेवा करना चाहता हूँ. इसलिये मुझे पास कर दिया जाए. में अपने पारिवारिक व्यवसाय ताड़ी बैचनें का कार्य नही करना चाहता हूँ. में दलित जाती का हूँ इसलिए मुझे पास कर दिया जाए. कपिल नें ऐसे मैसेज कई बार अपनें प्रोफ़ेसर कें मोबाईल पर भेजें थे. तथा जब प्रोफ़ेसर नें जवाब में उसे पास करने सें मना कर दिया तब कपिल नें फ्रोफेसर के मोबाईल में मैसेज किया जिसमें आत्म हत्या करने कि बात लिखी थी.