योगी सरकार ने पेश किया सबसे बड़ा बजट, हर तबके के लिए खोला सरकारी खजाना

Feb 07 2019 12:57 PM
योगी सरकार ने पेश किया सबसे बड़ा बजट, हर तबके के लिए खोला सरकारी खजाना

लखनऊ: योगी सरकार ने आज अपना तीसरा बजट विधानसभा में पेश कर दिया है। वर्ष 2019-20 के इस बजट पर बुधवार को वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने साइन किया। राज्य सरकार ने इस बार 4 लाख 79 हज़ार 701 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तुत किया है। इसमें 2 हज़ार 212 करोड़ 95 लाख रुपये के प्रोजेक्टों के लिए प्रास्तावित किया गया है। वृंदावन शोध संस्थान के सुदृढ़ीकरण हेतु एक करोड़ रुपए प्रस्तावित किए गए हैं।

आज डॉलर के मुकाबले रुपये की हुई कमजोर शुरुआत

वित्तमंत्री राजेश अग्रवाल ने बजट पेश करते हुए बताया कि जिन लोगों को आयुष्मान योजना के तहत लाभ नहीं मिल रहा है। उनके लिए मुख्यमंत्री आरोग्य योजना शुरू की जाएगी। इससे के लिए 111 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं। प्रादेशिक विमान सेवा के लिए 150 करोड़ रुपए, पिछड़ा वर्ग के विकास के लिए 1516 करोड़ रुपए, जेवर एयरपोर्ट की भूमि अधिग्रहण के लिए 800 करोड़, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए 1988 करोड़ और किशोरी बालिका योजना के लिए 156 करोड़ रुपए की राशि आवंटित की गई है। 

आज शुरुआत के साथ ही शेयर बाजार में नजर आई बढ़त

बजट में अयोध्या में प्रमुख पर्यटन स्थलों के समेकित विकास हेतु 101 करोड़ रुपए का आवंटन किया गया है, अल्पसंख्यक समुदाय के छात्र छात्राओं को छात्रवृत्ति हेतु 942 करोड रुपए की राशि और अरबी फारसी मदरसों के आधुनिकरण हेतु 459 करोड़ की राशि आवंटित की गई है। योगी सरकार ने नगर विकास विभाग में प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के लिए 5156 करोड़, अमृत योजना के लिए 2200 करोड़ रुपए, स्मार्ट सिटी मिशन योजना के लिए 2000 करोड़ रुपए का आवंटन किया गया है।  राजेश अग्रवाल ने बताया कि मौजूदा बजट चार लाख 79 हजार 701 करोड़ 10 लाख रुपए का है, जो कि वर्ष 2018-2019 के बजट के मुकाबले 12 प्रतिशत ज्यादा है।  

खबरें और भी:-

इस विदेशी कंपनी ने बताया खुद को भारतीय बाजार के लिए सकारात्मक

डॉलर के मुकाबले मामूली बढ़त के साथ खुला रुपया

आज भी दिखी शुरुआती कारोबार में तेजी, अभी ऐसा है हाल