हिंसा फैलाने वालों पर सख्त हुए सीएम योगी, कहा-मनमानी करने वालों को नही छोड़ेंगे

भारत की संसद से पास होने के बाद से नागरिकता संशोधन कानून का लगातार विरोध देखने को मिल रहा है. लेकिन विरोध की आड़ में माहौल बिगाडऩे वालों को सख्त लहजे में चेताते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोई मुगालते में न रहे, कयामत के दिन नहीं आने वाले हैं. आगजनी और तोड़फोड़ कर कानून को बंधक बनाने वाले अब मनमानी नहीं कर पाएंगे. बुधवार को विधानसभा में बजट चर्चा के दौरान उन्होंने विपक्ष के रवैये को गैरजिम्मेदाराना बताते हुए कहा कि देश की छवि खराब करने वालों को आने वाली पीढिय़ां कभी माफ नहीं करेंगी.

WHO का बड़ा ऐलान, कहा- चीन के बाहर तेजी से फ़ैल रहा कोरोना वायरस

अपने बयान में आगे सीएम ने कहा कि सीएए नागरिकता देने वाला कानून है. इसे कांग्रेस ने बनाया था. इसमें केवल एक संशोधन किया गया है. नागरिकता देने की समय सीमा 11 वर्ष से घटाकर पांच वर्ष की गई है. वो कानून बनाएं तो कोई बात नहीं, हम संशोधन करे तो बवाल किया जा रहा है. यह समाज की अपूर्णीय क्षति और संविधान के साथ धोखा है.

कोरोना से सहमी दुनिया, वायरस की चपेट में आए ईरान के स्वास्थ उपमंत्री

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि दिल्ली में जारी हिंसा से अधिक सतर्क दिखे योगी ने अपने दो घंटा दस मिनट के संबोधन में कानून व्यवस्था बनाए रखने व उपद्रवियों पर कठोर कार्रवाई किए जाने की प्रतिबद्धता को दोहराया. उन्होंने कहा कि सार्वजनिक संपत्ति को क्षति पहुंचाने वालों से वसूली भी होगी. प्रदेश की 23 करोड़ जनता की सुरक्षा से किसी को खिलवाड़ न करने देंगे. 

Delhi Violence: दिल्ली के दंगाग्रस्त इलाके में भेजे जाएंगे अजित डोभाल

शाहीन बाग पर भड़काऊ बयान देना इमरान प्रतापगढ़ी को पड़ा भारी, मुकदमा हुआ दर्ज

अमरीका पहुंचे ट्रम्प, बोले- 'भारत महान है, मेरी यात्रा बेहद सफल रही'

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -