ITI कानपुर के योगेश जोशी को शांति स्वरूप भटनागर सम्मान से नवाजा जाएगा

नई दिल्ली। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) कानपुर के योगेश जोशी को 2015 के शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार से नवाजा जाएगा। विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने युवा वैज्ञानिकों व इंजीनियरों की उपलब्धियों की पहचान करते हुए इस वर्ष के पुरस्कारों की शनिवार को घोषणा की। इसके अनुसार, इस साल यह पुरस्कार सात विधाओं के 11 वैज्ञानिकों को दिया जाएगा। योगेश जोशी को यह पुरस्कार इंजीनियरिग साइंसेज के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए दिया जाएगा।

इसके अलावा, बायोलॉजिकल साइंस के लिए इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस, बेंगलुरु के गोपाल बालासुब्रह्माण्यम तथा इंटरनेशनल कार्प्स रिसर्च इंस्टीट्यूट फॉर द सेमी-एरिड ट्रापिक्स के राजीव कुमार वार्ष्णेय, जबकि पृथ्वी, वायुमंडल, महासागर और भूमंडलीय विज्ञान क्षेत्र के लिए फिजिकल साइंस लेबोरेटरी, अहमदाबाद के ज्योतिरंजन श्रीचंदन रे को चुना गया है। 

मैथमेटिकल साइंसेज के लिए टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च (टीआइएफआर), मुंबई के रीताब्रत मुंशी और टीआइएफआर, बेंगलुरु के के. संदीप को सम्मानित किया जाएगा। टीआइएफआर, मुंबई की ही विदिता वैद्य को मेडिकल साइंस वर्ग के लिए चुना गया है।

शारीरिक विज्ञान वर्ग में यह पुरस्कार नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च, भुवनेश्वर के बेंदगादास और टीआइएफआर, मुंबई के मंदार देशमुख को मिलेगा। सेंटर फॉर साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च (सीएसआइआर) की नेशनल केमिकल लेबोरेटरी, पुणे के डी श्रीनिवास रेड्डी और इंडियन एसोसिएशन फॉर द कल्टीवेशन ऑफ साइंस, जाधवपुर के प्रद्युत घोष को केमिकल साइंसेज वर्ग में इस पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार के तहत वैज्ञानिकों को पांच लाख रुपये के नकद पुरस्कार के साथ प्रशस्ति-पत्र और प्रतीक चिन्ह से सम्मानित किया जाता है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -