लवली गर्ल बनना चाहती थी IAS अफ़सर, पहुँच गई 'चांद के पार'

बॉलीवुड अभिनेत्री यामी गौतम आज अपना 28वां जन्मदिन बना रही हैं। फिल्म विकी डोनर से अपनी एक अलग पहचान बना चुकी यामी अब तक तकरीबन 6 फिल्मों में काम कर चुकी हैं। वैसे, कम ही लोग जानते है कि यामी अभिनेत्री बनने की बजाय एक IAS ऑफिसर बनना चाहती थी। 

यामी ने स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद बीए की पढ़ाई की और आगे पढ़ाई करने के बाद यूपीएससी का एक्जाम पास करके आइएएस बनना चाहती थीं। लेकिन कहते न नियति को कुछ और ही मंजूर था। आज यामी किसी परिचय की मोहताज नहीं है। उनके करोड़ो फैन्स है जो उनकी एक झलक पाने के लिए बेताब रहते है। वह एक हरफनमौला कलाकार है।  

उनका जन्म हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर में 28 नवंबर 1988 को हुआ था लेकिन उनकी परवरिश चंडीगंढ़ में हुई है। उन्होंने महज 20 साल की उम्र में मुंबई का रुख किया। यामी ने 'चांद के पार चलो' शो से छोटे पर्दे पर डेब्यू किया। बता दें, यामी ने पहली फिल्म उलासा उत्सना की थी जो कि एक कन्नड़ फिल्म थी। वह पंजाबी, तमिल, तेलगू, मलयालम, कन्नड़ और हिंदी फिल्मों में काम कर चुकी हैं। 

उनके पिता मुकेश गौतम पंजाबी फिल्मों के डायरेक्टर और पीटीसी पंजाबी नेटवर्क के वाइस प्रेसिडेंट हैं। मुकेश अपनी फिल्म 'एक नूर' और 'अखियां उड़ीकदियां' के लिए जाने जाते हैं। 
 
यामी के पिता जहां पंजाबी हैं, वहीं उनकी मां अंजली गौतम पहाड़ी हैं। इस तरह यामी आधी पंजाबी और आधी पहाड़ी हैं। यामी को पहाड़ी इलाकों में घूमना फिरना  काफी पसंद भी है। 

यामी गौतम अब तक तकरीबन 6 फिल्मों में काम कर चुकी हैं। ऐसा कम ही होता है कि कोई अभिनेत्री इतनी वैराइटी की फिल्मों में काम करे। वह पंजाबी, तमिल, तेलगू, मलयालम, कन्नड़ और हिंदी फिल्मों में काम कर चुकी हैं।

अभिनेत्री नंदा की 20 करोड़ की प्रॉपर्टी के मालिकाना हक़ का मामला पहुंचा अदालत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -