मरने से पहले यमराज खुद देते है मौत से जुड़े यह चार सन्देश

मरने से पहले यमराज खुद देते है मौत से जुड़े यह चार सन्देश

कहते है इंसान की मृत्यु कब और कहा हो जाए यह किसी को पता नहीं होता है . लेकिन यह बात पूरी तरह सच नहीं है. मौत से पहले यमराज खुद मारने वाले व्यक्ति को उसकी मौत के सन्देश देते है. आईये जानते है क्या है वह सन्देश.

दरअसल पौराणिक कथाओ के अनुसार यमुना किनारे रहने वाला अमृत नाम का व्यक्ति मौत के दर से यमराज से दोस्ती करना चाहता था. इसी के चलते वह तपस्या करता रहा. एक दिन यमराज उसकी तपस्या से प्रसन्न होकर उसको दर्शन देने पहुचे. जहाँ अमृत ने यमराज से अमरता का वरदान माँगा. जिस पर यमराज ने अमृत को समझते हुए कहा, जिसने जन्म लिया है, उसे एक दिन मरना भी है. यही शाश्वत नियम है. कोई भी मृत्यु से बच नहीं सकता है.

यमराज का यह जवाब सुन्न कर अमृत ने कृतज्ञ भाव के साथ कहा, मैं अपनी दोस्ती के नाते एक और निवेदन करता हूं. अगर मौत को टाला नहीं जा सकता, तो कम से कम जब मौत मेरे बिल्कुल करीब हो, तो मुझे पता चल जाए ताकि मैं अपने परिवार के लिए कुछ प्रबंध कर सकूं.

तब यमराज ने उसे वचन दिया की वह हर मारने वाले व्यक्ति को उसकी मौत के कुल चार सन्देश देने का वादा किया. वह चार सन्देश है, पहला संदेश- बालों का सफेद होना. दूसरा संदेश- दांत गिरना. तीसरा संदेश- ज्ञानेन्द्र‌ियों का कमजोर पड़ना. चौथा संदेश- कमर झूक जाना.

VIDEO - जब लड़कियों से पूछा गया कि क्या करती है वो घर में अकेले में