बुखार आने पर भूल से भी नहीं खानी चाहिए ये चीजें!

मौसम बदलने के साथ बीमारियों का खतरा तेजी से बढ़ता जाता है। इसके चलते हम सभी को अपनी सेहत का काफी ध्यान रखना चाहिए। जब भी गर्मी और बारिश के मौसम आते हैं और इस दौरान चलने वाली हवाओं के कारण एक खास तरह का बुखार काफी अधिक फैलता है, जिसे हे फीवर (Hay Fever) के नाम से जाना जाता है। जी दरअसल गर्मी और बारिश में (मार्च से सितंबर के बीच) चलने वाली हवाएं कुछ ऐसे कणों को हवा में छोड़ती हैं जो सांस के द्वारा गले और नाक में चले जाते हैं, जिससे बुखार और एलर्जी हो जाती है।

आपको बता दें कि आंख में खुजली, नाक बहना, साइनस, डार्क सर्कल, थकान, जुकाम, खांसी, बुखार इसके लक्षण हैं। जी हाँ और इस हे फीवर में कुछ चीजों के सेवन से बचना चाहिए, नहीं तो स्थिति और गंभीर हो सकती है। अब आज हम आपको उन चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जो हे फीवर में खाने से बचना चाहिए।

चीज- चीज में हिस्टामाइन कैमिकल पाया जाता है जो इम्यून सिस्टम द्वारा किसी एलर्जी के संपर्क में आने पर शरीर में रिलीज होता है। जी दरअसल हिस्टामाइन शरीर में सूजन और जुकाम का कारण बन सकता है। आपको बता दें कि हिस्टामाइन चीज के साथ कई खाद्य पदार्थों में भी पाए जाते हैं इस वजह से ऐसे फूड्स के सेवन से बचें। अगर जरूरत हो तो डॉक्टर की सलाह पर एंटीहिस्टामाइन टेबलेट ले सकते हैं, जो कि इसके असर को कम कर सकता है।

डेयरी प्रोडक्ट​- अधिकांश प्रकार के डेयरी प्रोडक्ट शरीर में बलगम को बढ़ाते हैं इस वजह से ये किसी भी एलर्जी को और भी अधिक बढ़ा सकते हैं। जी दरअसल एक्सपर्ट का कहना है कि अनाज के साथ पनीर और दूध जैसे डेयरी प्रोडक्ट नाक में बलगम को बढ़ा देते हैं, जिससे नामक रुक जाती है। इस वजह से चाय में गाय के दूध की जगह बादाम या जई का दूध मिलाएं, हालाँकि इस दौरान याद रखें नारियल के दूध का सेवन न करें।

शराब- अल्कोहल में हिस्टामाइन पाए जाते हैं जो फीवर के दौरान आंख में खुजली को बढ़ा देते हैं और सूंंघने की क्षमता कम कर सकते हैं। बीयर, साइडर और रेड वाइन जैसी ड्रिंक में हिस्टामाइन अधिक होते हैं जो हे फीवर के लक्षणों को बढ़ा सकते हैं।

मिठाई- चीनी और प्रोसेस्ड फूड शरीर में हिस्टामाइन प्रोडक्शन का कारण बनते हैं, जिससे हे फीवर के लक्षण और अधिक बढ़ सकते हैं। इस वजह से मीठे का सेवन काफी कम करें या बंद ही कर दें।

कुछ फल और सब्जियां- हे फीवर वाले लोगों को डाइजेशन संबंधित समस्याएं और फूड एलर्जी भी हो सकती है। जी दरअसल एलर्जी के कारण व्यक्ति को ताजे फल खाने के बाद गले में खुजली, कान में खुजली, जीभ या होंठ में सूजन हो सकती है। इस वजह से कुछ एसिड या खट्टे फलों का सेवन करने से बचें।

नौतपा में रखे यह सावधानियां वरना बीमार हो जाएंगे आप

जोड़ों में दर्द से हैं परेशान तो मेहंदी में मिलाकर लगाए ये एक चीज, झट से होगा आराम

मंकीपॉक्स वायरस पर शोधकर्ताओं ने किया चौकाने वाला खुलासा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -