जहाँ ठहरी थी श्री राम की बारात, अब वहां बनेगा विश्व का सबसे बड़ा 'रामायण मंदिर'

पटना: उत्तर प्रदेश के अयोध्या में भगवान श्री राम का भव्य मंदिर बनाने का काम युद्धस्तर पर चल रहा है। हाल ही में सीएम योगी ने भी अयोध्या जाकर मंदिर निर्माण के कार्यों की समीक्षा की थी। राम मंदिर का निर्माण कार्य आरंभ होने बाद अब वहाँ भी एक भव्य मंदिर का निर्माण किया जाएगा, जहाँ श्री राम की बारात ठहरी थी। इस मंदिर का नाम ‘रामायण मंदिर’ होगा। ये मंदिर बिहार के पूर्वी चंपारण में  बनाया जाएगा। मान्यता है कि माता सीता से विवाह करने के बाद जनकपुर से लौटते वक़्त भगवान राम की बारात यहीं पर ठहरी थी।

यह मंदिर इतना विशाल और भव्य बनाया जाएगा कि ये विश्व का सबसे बड़ा मंदिर होगा। जानकारी के अनुसार, यह विराट रामायण मंदिर 70 फीट ऊँचा होगा। इसकी लंबाई 1080 फीट और चौड़ाई 540 फीट होगी। 270 फीट के इस विराट रामायण मंदिर के निर्माण के लिए 125 एकड़ भूमि आवंटित किए जाने का प्रस्ताव है। जानकारी के मुताबिक, इस मंदिर के लिए अब तक एक सौ एकड़ भूमि मंदिर को मिल भी चुकी है।

बताया जा रहा है कि,  इस मंदिर परिसर में ऊँचे शिखरों वाले 18 मंदिर होंगे और इस मंदिर के परिसर में एक भव्य शिव मंदिर भी बनाया जाएगा। जिसमें विश्व का सबसे बड़ा शिवलिंग होगा। पटना स्थित महावीर मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि शिवलिंग 33 फीट ऊँचा होगा। जानकारी के मुताबिक, विराट रामायण मंदिर कंबोडिया में विश्व प्रसिद्ध 12वीं शताब्दी के अंकोरवाट परिसर से भी ऊँचा होगा, जो 215 फीट ऊँचा है।

अपने 'लाल' को बचाने के लिए कुँए में कूद पड़ी माँ, मदर्स डे पर हुआ दर्दनाक हादसा

ताजमहल में लड्डू बांटने पहुंचे हिन्दू महासभा के कार्यकर्ता, यूपी पुलिस ने रोका.. जानें क्या है मामला

'इस्लाम ही असली फांसीवाद है..', मजहब छोड़ने वाले केरल के अस्कर अली ने किया सनसनीखेज दावा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -