जानिए क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड टेलीविज़न डे

आज के वक़्त में विश्वभर में टेलीविज़न का बड़ा महत्व है। इसी की अहमियत को देखते हुए हर वर्ष 21 नवंबर को वर्ल्ड टेलीविजन डे सेलिब्रेट करते हैं। वैसे हम सभी के जीवन में टेलीविज़न कहीं ना कहीं अहम है क्योंकि यही है जो एक ऐसा माध्यम है जिससे हमको सिर्फ सूचना ही नहीं मिलती है बल्कि यह हमारा मनोरंजन भी करता है। इसकी हमारे जीवन में एक ख़ास जगह है। जी दरअसल इस फॉरम का मकसद एक ऐसा मंच उपलब्ध करवाना था जहां सूचना माध्यम के तौर पर टेलीविज़न के महत्व पर बात की जा सके।

केवल यही नहीं बल्कि इस मंच का उद्देश्य बदलती विश्व में टीवी के योगदान को सामने लाना भी था क्योंकि टीवी न सिर्फ जनमत को प्रभावित करता है बल्कि बड़े-बड़े फैसलों पर भी असर डालता है। जिस दिन वर्ल्ड टेलीविजन डे होता है उस दिन लोग आपस में मिलते-जुलते हैं और टीवी को प्रोत्साहन देने की दिशा पर बात करते हैं। इस दिन पत्रकार, लेखक और ब्लॉगर टीवी की भूमिका पर चर्चा करते हैं इसके अलावा इसके बारे में अन्य भी कई बातें होती हैं। आपको हम यह भी बता दें कि संयुक्त राष्ट्र ने वर्ष 1996 में 21 और 22 नवंबर को विश्व के प्रथम विश्व टेलीविजन फोरम का आयोजन किया।

वहीं वर्ष 1927 में फिलो टेलर फार्न्सवर्थ नामक 21 वर्ष के लड़के ने आधुनिक टेलीविजन पर सिग्नल प्रसारित किया। वर्ष 1927 में फिलो टेलर फार्न्सवर्थ द्वारा टीवी का आविष्कार किए जाने के 1 वर्ष बाद अमेरिका में पहला टेलीविजन स्टेशन शुरू हुआ। कहा जाता है सितंबर वर्ष 1928 में जॉन बेयर्ड ने पहली बार मॉर्डन टीवी आम लोगों के सामने प्रदर्शित किया। वैसे जॉन बेयर्ड वही व्यक्ति थे जिन्होंने मैकेनिकल टीवी का आविष्कार किया था। वैसे टीवी की जगह कोई नहीं ले सकता फिर वह नए-नए उपकरण ही क्यों ना हो।

स्विमिंग पूल से लेकर फ्रिज तक है विश्व की सबसे लंबी कार में, जानिए 1 घंटे का किराया

सिंगापुर में अगले वर्ष से दिया जाएगा 12 वर्ष के कम उम्र वालों को कोरोना का टीका

CPEC की जलविद्युत चुनौती ने पाकिस्तान में की जलाशय की शुरूआत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -