जानिए आखिर क्यों मनाया जाता है विश्व पोलियो दिवस?

कई वर्षों से हम सुनते आ रहे है ‘दो बूंद जिंदगी के’ तथा ये पुरे विश्व में सिद्ध हो गया है कि मानव स्वास्थ्य को भयंकर बीमारी से बचाने के लिए पोलियो की दो बूंद कितनी अहम है। इसलिए प्रत्येक वर्ष 24 अक्टूबर को पूरी दुनिया में ‘विश्व पोलियो दिवस' मनाया जाता है। आज हम इस दिवस के मौके पर आपको इससे संबंधित अहम बातें बताने जा रहे है...

विश्व पोलियो दिवस का उद्देश्य:- 
प्रत्येक वर्ष विश्व स्तर पर मनाये जाने वाले इस ‘विश्व पोलियो दिवस’ के पीछे एक विशेष लक्ष्य है। दरअसल पोलियो बीमारी के विरुद्ध व्यक्तियों को जागरूक करने के उद्देश्य से यह दिवस मनाया जाता है। 

पोलियो और भारत की स्थिति:- 
आपको बता दें कि भारत के सिलसिले में बात की जाए तो वर्ष 2014 से भारत में अभी तक एक भी पोलियो का मामला सामने नहीं आया है। वर्ष 2014 में ही विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत को पोलियो मुक्त घोषित किया था तथा तत्कालीन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को शुभकामनाएं दी थी। वहीं दूसरी तरफ अब देश में कोरोना संक्रमण के विरुद्ध भी केंद्र सरकार की मुहिम रंग लाती नजर आ रही है। ऐसे में हम ये कोरोना की भी जंग जीत जाएंगे यह आशा है। 

 

वही देश में 100 करोड़ कोरोना टीके के डोज लगाने जाने का अहम पड़ाव पार कर लिया गया है। पीएम मोदी ने देश के नाम संबोधन में इसके लिए देश के लोगों एवं स्वास्थ्य कर्मियों का आभार व्यक्त किया। साथ ही पीएम मोदी कोरोना वैक्सीन अभियान के बीच आई तमाम समस्याओं का भी जिक्र किया। भारत में पोलियो अभियान पिछले कई दशक से चल रहा था तथा इसके विरुद्ध भारत की तमाम सरकारों ने लंबी लड़ाई लड़ी है। उसी प्रकार कोरोना को भी हम मात दे देंगे। 

भारत-पाकिस्तान का मैच देखने दुबई गए थे गृह मंत्री, आखिर क्यों इमरान खान ने बुलाया वापस?

T20 World Cup: भारत की जीत के लिए शुरू हुआ दुआओं का सिलसिला, वाराणसी की गंगा आरती में हुई प्रार्थना

India vs Pakistan: 'जीतेगा तो भारत ही'!, T20 वर्ल्ड कप में 6 बार दी है मात

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -