जब सड़क पर सोने आ गए लोग, ऐसा रहा नज़ारा

जब सड़क पर सोने आ गए लोग, ऐसा रहा नज़ारा

सोने का काम सभी का ग्रह में होता है लेकिन क्या हो जब आपको लोग घर के बाहर सड़कों पर सोने लगे. जी हाँ, ऐसे में तो यही लगता है कि पत्नियों ने पतियों को घर से बाहर निकाल दिया है जिसके कारण उन्हें बाहर सोना पड़ रहा है. लेकिन यहां ऐसा कुछ नहीं है बल्कि सभी यहां पर सड़कों पर सोते हैं. आइये जानते हैं ऐसा क्या है यहां इस देश में जहां लोग अपने बिस्तर को लेकर सड़कों पर आ जाते हैं और वहीं सोते हैं. ये बात सुनकर आपको भी हैरानी होगी.

इस ट्रैफिक जाम में 73 साल से फंसी हैं गाड़ियां

दरअसल, दुनिया में हर तरह के दिन मनाये जाते हैं और उनमे से ही एक होता है 'वर्ल्ड लेजिनेस डे' यानी ये दिन आलसियों के लिए होता है. ये दिन इतना खास  होता है कि दुनियाभर के अलसी लोग इसे मनाते हैं और सड़कों आ कर सोते हैं. आपको बता दें, रविवार को ये दिन बड़े ही उत्साह के साथ कोलंबिया के इतागुई शहर में मनाया गया जिसमें कई सारे लोग आये.

इस दिन लोग अपने घर से बिस्तर लेकर आते हैं जो सजा हुआ होता है और सड़कों पर आकर सोते हैं साथ ही इस दिन की खास बनाते हैं. इस दिन को मनाने के लिए इतने लोग आते हैं जिससे आप ये देख सकते हैं कि शहर में कितने आलसी हैं और आलस में डुबकर इस दिन को मना सकते हैं.

कुछ ही सेकण्ड्स में किया ऐसा कारनामा, बन गया रिकॉर्ड

आपको बता दें, ये दिन इसलिए मनाया जाता है क्योंकि कोलंबिया के लोग तनाव से लड़ सकें. जी हाँ, भाग दौड़ भरी जिंदगी में हमें एक भी दिन ऐसा नहीं मिलता जिसमें हम आराम कर सकें. ये दिन 1985 से हर साल मनाया जा रहा है. आज से 33 साल पहले एक निवासी मारियो मोंटोया को यह विचार आया था कि शहर में लोगों के पास आराम का एक दिन होना चाहिए. इस दिन प्रतियोगिताएं भी होती हैं, जैसे किसका पजामा सबसे अच्छा दिख रहा है और कौन सबसे तेज बिस्तर पर पहुंचता है. वाकई हमें भी ये दिन मनाना चाहिए जिससे सभी का आलस एक ही दिन में दूर हो जाये.

यह भी पढ़ें..

साइकिल चोर चोरी कर बन रहा था रोबिन हुड लेकिन..

पति ने बनवाया पत्नी का मंदिर, सालों से कर रहा पूजा

?