जानिए क्यों मनाया जाता है विश्व हास्य दिवस, क्या है इसके लाभ और महत्त्व

विश्व हास्य दिवस की शुरुआत डॉ. कटारिया द्वारा 1998 मे की गई. जो हास्य योग आंदोलन के संस्थापक थे. विश्व हास्य दिवस का उत्सव विश्व शांति के लिए मनाया जाता है इसका उद्देश्य हास्य के माध्यम से दोस्ती और भाईचारे का निर्माण करना है. आज हम कई नकारात्मक चीजों से जुड़े हुए है जैसे – हिंसा, तनाव, आतंकवाद, प्राकृतिक आपदाएँ, खराब अर्थव्यवस्था और ग्लोबल वार्मिंग. इन सभी चीजों में खुश रहने का सिर्फ एक ही साधन है वो है आपकी हँसी. जब लोग खुश और स्वस्थ होते हैं तो वे विश्व शांति में अपना महवपूर्ण योगदान देते हैं. सबसे सरल बात है कि जब आप हंसते हैं तो आपके आसपास की दुनिया बदल जाती है. बिना शर्त हँसने से हमें अंदर से अच्छा महसूस करने की शक्ति मिलती है और जब आप अंदर से अच्छा महसूस करते हैं, तो यह बाहरी दुनिया की पूरी धारणा को ही बदल देता है. हँसी शारीरिक, मानसिक, सामाजिक और आध्यात्मिक कल्याण के लिए सबसे आसान उपाय है.

इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि हँसी की वजह क्या है पर यह आपको यक़ीनन अच्छा महसूस कराती है. अपने रिश्तों को मजबूत बनाने और विभिन्न स्थितियों में जब आप परेशान होते है. इससे आपकी चिंता कम होती है और कैलोरी बढती है. यह हँसी की सबसे अच्छी दवा है जो हर परिस्थितयों में काम आती है.

हँसने से हमारे स्वास्थ्य को होने वाले कुछ लाभ-

हँसी पूरे शरीर को आराम देने का कार्य करती है और यह हमे सारे तनाव से दूर रखती है जिससे हमारी मांसपेशियों को लगभग 45 मिनट तक आराम मिलता है.

यह रोग प्रतिरोधक क्षमता के सुधार में भी सहायक होती है.

हँसी दिल की सुरक्षा करती है और रक्त के प्रवाह को बढ़ाती है, जो हमे दिल के दौरे और हृदय संबंधी अन्य समस्याओं से बचा सकती है.

यह कैलोरी बर्न करता है. दिन में 10 से 15 मिनट तक हंसने से लगभग 40 कैलोरी बर्न हो सकती है.

यह क्रोध को कम करने में भी सहायक है जिससे हमे नाराजगी और कडवाहट से बचने में मदद मिलती है.

यह रक्त चाप को कम करने में मदद करती है और ह्रदय सम्बन्धी कई रोगों से हमे दूर रखती है.

यह आपके नींद में सहायक होती है यदि आप सोने से पहले हसते है तो यह आपको गहरी नींद की ओर ले जाता है.

हास्य का जीवन में महत्त्व: मनोवैज्ञानिक प्रयोगों से यह स्पष्ट हुआ है कि जो बच्चे अधिक हँसते है वे बुद्धिमान होते हैं. हँसना सभी के शारीरिक व मानसिक विकास के लिए जरुरी होता है. जापान के लोग अपने बच्चों को प्रारंभ से ही हँसते रहने की शिक्षा देते हैं. हास्य तनाव, दर्द और संघर्ष का एक शक्तिशाली स्त्रोत है. हास्य बोझ को हल्का करता है, आशा को प्रेरित करता है, हमे दूसरों से जोड़ता है और केंद्रित और सतर्क रहने में मदद करता है इसके अलावा यह हमे जल्द माफ करने में भी मदद करता है. हास्य एक सामाजिक तंत्र भी है, जिसके द्वारा हम नए मित्र बनाते हैं और अनेक लोगो से जुड़ते हैं. हँसी सामाजिक घटना हास्य का एक महत्वपूर्ण पहलू है और यह स्वास्थ्य और पोषण की तुलना में भी नृविज्ञान के लिए बेहतर होता है.

हंसी हमे अच्छा महसूस करने के साथ सकारात्मक भावना बनाने में मदद करती है. हास्य कठिन परिस्थितियों, निराशा और हानि में सकारात्मक दृष्टिकोण रखने में मदद करता है. दुख और दर्द में राहत का रूप हँसी है क्योकि हंसी हमे अर्थ और आशा के नए स्रोतों को खोजने में हिम्मत और ताकत देती है.

स्वीडन में मिला बलूच पत्रकार का शव, करता था पाक सरकार की आलोचना

कोरोना महामारी के चलते टली नवाज़ शरीफ की सर्जरी, बेटी मरियम ने दी जानकारी

कोरोना काल के बीच महायुद्ध की तैयारी में जुटा रूस, बना रहा तबाही का सबसे बड़ा सामान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -