आयुर्वेद को नई पहचान देने जा रहा WHO, अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर लांच करेगा एप

Jun 18 2019 11:43 AM
आयुर्वेद को नई पहचान देने जा रहा WHO, अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर लांच करेगा एप

न्यूयॉर्क: भारतीय आयुर्वेद को अब विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) नई पहचान देने जा रहा है. संगठन ने अब योग के साथ ही मधुमेह, दिल से सम्बंधित बीमारियों और हाइपरटेंशन जैसे रोगों के बारे में मोबाइल ऐप के माध्यम से जानकारी देने का निर्णय लिया है. इस ऐप को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर शुरू किया जा सकता है.

इस मोबाइल ऐप में कई किस्म के योगासन के अलावा मधुमेह से सम्बंधित भारतीय वैज्ञानिकों के शोध बीजीआर-34 समेत आयुर्वेद दवाओं की जानकारी भी मिलेगी. बताया जा रहा है कि इन दवाइयों को सीएसआईआर के वैज्ञानिकों ने हिमाचल की 500 औषधियों पर रिसर्च के बाद तैयार किया है. देश भर में खुल रहे हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों को भी ऐप से जोड़ दिया जाएगा, जिससे आयुष मंत्रालय के साढ़े 12 हजार हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर तक जनता की पहुंच बन सके.

नई दिल्ली स्थित मोरारजी देसाई योग इंस्टिट्यूट के निदेशक डॉ. बीएस रेड्डी के मुताबिक, डब्ल्यूएचओ ने पहली बार आयुष मंत्रालय के साथ आयुर्वेद को लेकर अनुबंध किया है. उनके संस्थान से भी डब्ल्यूएचओ का समझौता हुआ है. उन्होंने कहा कि इस ऐप के माध्यम से योग के सभी सरल के बारे में विस्तृत रुप से बताया जाएगा. इसके साथ ही मधुमेह, दिल और हाइपरटेंशन रोग व उनके आयुर्वेद उपचार के बारे में भी लोगों को जानकारी दी जाएगी.

तपती गर्मी से बचने के लिए जाए इन जगहों पर, ठंड से हो जायेंगे परेशान

अमेरिकी अधिकारी को आई खांसी, तो डोनाल्ड ट्रम्प ने निकाला ऑफिस से बाहर

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस: टेक्सास में तैयारियां चरम पर, होगा कई कार्यक्रमों का आयोजन