WHO बोला- भारत में एंडेमिक स्टेज में जा सकता है कोरोना, जानिए क्या हैं इसके मायने

नई दिल्ली: देश में कोरोना की दूसरी लहर का कहर अब थोड़ा धीमा पड़ा है। कोरोना वैक्सीन के 55 करोड़ से ज्यादा सिंगल या डबल डोज लगाए जा चुके हैं। इन सबके बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की ओर से भारत के लिए बड़ी अपडेट सामने आई है। मुख्य वैज्ञानिक सौम्या विश्वनाथन का कहना है कि भारत में कोविड-19 अब एंडेमिक स्टेज में जा सकता है। इसका मतलब यह है कि वायरस के फैलाव की प्रकृति अब स्थानीय हो सकती है, जबकि पैनडेमिक में आबादी का बड़ा हिस्सा वायरस की गिरफ्त में आता है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि उतार और चढ़ाव के साथ भारत के विभिन्न हिस्सों में कोरोना के मामले नजर आएंगे। 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सौम्या स्वामीनाथन ने कहा कि भारत के आकार और आबादी के स्वरूप में भिन्नता के कारण, वायरस के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता भी अलग-अलग है। हम ऐसी अवस्था में जा सकते हैं, जहां संक्रमण के फैलने की दर कम या मध्यम होगी। फिलहाल वायरस के तेजी से फैलने की संभावना नहीं दिख रही है, जैसा हम सबने कुछ महीने पहले देखा था। उन्होंने कहा कि 2022 के आखिर तक भारत टीकाकरण के मामले में शानदार सफलता हासिल कर लेगा, मान लीजिए की 70 फीसद लोगों का पूर्ण टीकाकरण हो गया तो भारत सामान्य अवस्था की ओर लौट जाएगा।

कोरोना की तीसरी लहर के संबंध में उन्होंने कहा कि यह कोई क्रिस्टल बॉल नहीं है, जिसके बारे में पुख्ता तौर पर कुछ बोला जा सके। फिलहाल, यह कह पाना कठिन है कि कोरोना की तीसरी लहर कब आएगी। हालांकि कुछ फैक्टर्स को ध्यान में रखकर आप केवल अनुमान लगा सकते हैं। बूस्टर डोज के बारे में उन्होंने कहा कि यदि वैज्ञानिक या नैतिक रूप में देखें तो इसके पीछे भागना सही नहीं है, लिहाजा यह अलग अलग देशों पर निर्भर करता है जिनके पास अत्याधिक मात्रा में डोज मौजूद हैं।

राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग ने कहा- "पुरस्कारों के लिए गुंटूर जिला पुलिस की सिफारिश करेंगे..."

जानिए कैसे WhatsApp पर बुक कर सकते हैं वैक्सीन स्लॉट?

वैक्सीनेशन महाअभियान एक बार फिर सफलता के नए रिकॉर्ड स्थापित करेगा: CM शिवराज सिंह चौहान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -