जानिए क्यों मनाया जाता है जैव विविधता के लिए विश्व दिवस

हर साल 22 मई को अंतरराष्ट्रीय जैव विविधता दिवस सेलिब्रेट किया जाता है। इसे 'विश्व जैव विविधता संरक्षण दिवस' के नाम से भी पुकारा जाता है। इसका प्रारंभ संयुक्त राष्ट्र संघ ने किया। हमारे जीवन में जैव विविधता का काफी महत्व रखता है। प्राकृतिक एवं पर्यावरण संतुलन बनाए रखने में जैव विविधता का महत्व देखते हुए ही जैव विविधता दिवस को अंतरराष्ट्रीय दिवस के रूप में सेलिब्रेट करने का फैसला लिया गया। नैरोबी में 29 दिसंबर 1992 को हुए जैव विविधता सम्मेलन में यह फैसला लिया गया था, किंतु कई देशों द्वारा व्यावहारिक कठिनाइयां व्यक्त करने की वजह से इस दिन को 29 मई की बजाय 22 मई को सेलिब्रेट करने का निर्णय लिया गया।

हमें एक ऐसे पर्यावरण का निर्माण करने की आवश्यकता है, जो जैव विविधता में समृद्ध, टिकाऊ और आर्थिक गतिविधियों के लिए हमें मौके दे सके। जैव विविधता के कमी होने से प्राकृतिक आपदा जैसे बाढ़, सूखा और तूफान आदि आने का खतरा और भी ज्यादा बढ़ता चला जाता है अत: हमारे लिए जैव विविधता का संरक्षण बहुत आवश्यक है।

बता दें कि लाखों विशिष्ट जैविक की कई प्रजातियों के रूप में पृथ्वी पर जीवन उपस्थित है और हमारा जीवन प्रकृति का अनुपम गिफ्ट है। अत: पेड़-पौधे, अनेक प्रकार के जीव-जंतु, मिट्टी, हवा, पानी, महासागर-पठार, समुद्र-नदियां इन सभी प्रकृति की देन का हमें संरक्षण करना चाहिए, क्योंकि यही हमारे अस्तित्व एवं विकास के लिए भी लाभदायक होती है। इसमें विशेष तौर पर वनों की सुरक्षा, संस्कृति, जीवन के कला शिल्प, संगीत, वस्त्र-भोजन, औषधीय पौधों की महत्वता आदि को प्रदर्शित करके जैव विविधता के महत्व एवं उसके न होने पर होने वाले खतरों के बारे में जागरूक करने की आवश्यकता है।

श्रीलंका के नए प्रधानमंत्री ने श्रीलंकाई एयरलाइंस को बेचने का प्रस्ताव रखा

जिन्ना रोड की मेमन मस्जिद के पास भीषण बम ब्लास्ट, एक महिला की मौत, 8 अन्य घायल

तेलंगाना के आईटी मंत्री केटीआर दावोस के लिए रवाना

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -