कंप्यूटर के बिना अधूरा है मानवीय जीवन, जानें इसका महत्त्व

इस बारें में तो हर कोई जानता होगा कि आज के इस तकनिकी दौर में साक्षरता सबसे बड़ी जरूरतों में से एक है. इसका मानव जीवन में एक बड़ा असर भी देखने को मिलता है. शिक्षा से ही मानव प्रगति की राह पर है. अब हम चाहे बात सामाजिक एवं आर्थिक विकास की करें दोनों में इसकी महत्वता है. 

वैसे भी आज आप देख ही रहे है की आज का युग आम शिक्षा से ऊपर उठकर कंप्यूटर द्वारा शिक्षा प्राप्त कर रहा है.अब मानव जीवन के प्रत्येक कार्य डिजिटल हो रहे है.आल ही में नोटबंदी से लोगों के अधितर कार्य अब ऑनलॉइन (कंप्यूटर सिस्टम ) द्वारा किया जा रहा है. आने वाले कुछ समय पश्चात् मानव जीवन के प्रत्येक कार्य अब कंप्यूटरीकृत हो चुके है.

दुनिया से निरक्षरता को समाप्त करने के उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए 2 दिसम्बर को विश्व कम्प्यूटर साक्षरता दिवस सेलिब्रेट किया जाता है. आज कम्प्यूटर के बिना किसी भी काम को करना बेहद ही मुश्किल हो चुका है. यह एक बहुपयोगी वैज्ञानिक अविष्कार है. युद्ध के दौरान शत्रु के आक्रमण की पूर्व सूचना से लेकर दुश्मन के मिसाइल तथा सेना की उपस्थिति बताने का काम कम्प्यूटर करने लगा है. आज विश्व में कम्प्यूटर क्रांति आ गई है. आज हर एक क्षेत्र में कंप्यूटर अपने कदम तेजी से बढ़ा रहा है.

जानिए कैसे फैलता है AIDS और क्या है इससे बचाव के उपाए

ऑस्ट्रेलिया ने दुनिया का पहला mRNA कोविड टीका विकसित किया

वर्ष के अंत से पहले अमेरिकी ट्रेजरी के नकदी से बाहर होने की संभावना: सीबीओ

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -