जीवन में इसलिए महत्वपूर्ण है मधुमक्खी, जानें क्यों मनाया जाता है मधुमक्खी दिवस ?

हमारे जीवन में मधुमक्खियां बहुत महत्वपूर्ण हैं. हम जो कुछ भी फल, सब्जियां या अनाज खाते हैं उन्हें उगाने के लिए केवल धूप, मिट्टी और पानी ही जरूरी नहीं हैं बल्कि कीट पतंगों का भी विशेष योगदान रहा है. धरती पर कृषि का एक बड़ा भाग इन्हीं कीट पतंगों पर निर्भर करता है. ऐसे में मधुमक्खियों के महत्व के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए और उन्हें खतरों से बचाने के लिए हर साल 20 मई को मधुमक्खी दिवस मनाया जाता है. आइए जानते हैं क्यों इस दिवस को मनाया जाता है.

बता दें की हम जो भी फल, सब्जियां या अनाज खाते हैं उन्हें उगाने के लिए परागण की प्रक्रिया खास योगदान रखती है. मधुमक्खियां पेड़ पौधों के पराग कणों को एक पौधों से दूसरे पौधों तक पहुंचाने में मदद करती हैं. जब मधुमक्खी किसी एक फूल पर बैठती है तो उसके पैरों और पंखों में पराग कण चिपक जाते हैं और जब यह उड़कर किसी दूसरे पौधे पर बैठती है, तब यह पराग कण उस पौधे में चले जाते हैं और उसे निषेचित कर देते हैं इससे फल और बीजों की उत्पत्ति होती है.

मधुमक्खी का कृषि में भी बहुत बड़ा योगदान है. विश्व की 70 प्रतिशत कृषि कीट-पतंगों पर निर्भर है. ऐसे में हम कह सकते हैं कि 100 में से 70 खाद्य पदार्थ में मधुमक्खियों का हस्ताक्षेप रहता है. मधुमक्खी एक ऐसी कीट है जो किसी भी तरह की रोगजनक बैक्टीरिया या वायरस नहीं छोड़ती है. ऐसा कभी देखने को नहीं मिलता की मधुमक्खी के संपर्क में आने से व्यक्ति को कोई बीमारी हो जाए.

दुनिया का ये है सबसे महंगा जूता, कीमत जान रह जायेंगे सन्न

विश्व की ये है सबसे महंगी पानी की बोतल, एक बोतल की कीमत है 42 लाख रुपए

लॉकडाउन में इस 90 वर्षीय बंदे से सीखिए जीवन जीने का असली तरीका

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -