अफगानिस्तान में इंजीनयर के बाद अब मजदूरों को किया अगवा

अफगानिस्तान:  अफगानिस्तान में एक बार फिर से भारतीय मजदूरों का अपहरण किए जाने की जानकारी सामने आई है. अब एक बार फिर जिन 7 मजदूरों के अपहरण की खबर आई है, उनमें से तीन मजदुर झारखण्ड के रहने वाले है. बगोदर और एक मजदूर हजारीबाग जिले के टाटी झरिया का रहनेवाला है. अगवा मजदूरों में बगोदर के घाघरा निवासी प्रकाश महतो व प्रसादी महतो, महुरी के हुलास महतो और टाटीझरिया के बेडम के काली महतो का नाम सामने आया हैं. 

इन सब के अलावा अपहरण वाली सूची में एक मंटू सिंह (बिहार), राजन कौशिक मुरलीधरन और एक अन्य केरल का रहने वाला मजदुर बताया जा रहा है. जानकारी के मुताबिक मजदूरों के अपहरण की सूचना उनके घरवालों को 8 मई को मिली, जिसके बाद से सब लोग परेशान हो गए हैं. बता दें कि अफगानिस्तान के बघलान प्रांत में 6 मई को इन सभी मजदूरों को अपहरण किया गया है. बताया जा रहा है कि आतंकियों ने बाग-ए-शामल गांव से अपहरण किया. बघलान के गर्वनर के खुद इस घटना की पुष्टि करते हुए जानकारी दी है.

गौरतलब है कि अफगानिस्तान आधिकारियों ने इस बात की पुष्टि की है कि सभी मजदूर अफगानिस्तान स्थित भारतीय कंपनी आरपीजी ग्रुप की कंपनी केईसी के कर्मचारी हैं. ये बिजली सब स्टेशन में टावर लगाने का काम करते हैं. सभी मजदूर 4 साल पहले केईसी कंपनी में काम करने के लिए अफगानिस्तान गए थे जो अब किडनेप हो गए है.

यौन उत्पीड़न के आरोपों के चलते अटॉर्नी जनरल ने दिया इस्तीफा

चीन: तख्तापलट की साजिश करने वाले नेता को उम्रकैद

अब पाक की जेलों में आतंकियों की ट्रेनिंग

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -