1,008 बिस्किट के पैकेट से इस महिला ने बनाया शिवलिंग

चंपानेर: गुजरात के पंचमहल जिले के चंपानेर में एक महिला (राधिका सोनी) ने बिस्कुट के पैकेट्स से शिवलिंग बनाया है जो इस समय चर्चाओं का विषय बना हुआ है। अब उस शिवलिंग की तस्वीरें तेजी से सोशल साइट्स पर वायरल हो रही हैं। इस बारे में बात करते हुए राधिका सोनी नामक महिला का कहना है कि इस तरह से बना शिवलिंग कई मायने में सार्थक है। उन्होंने कहा, "गणेशजी के उत्सव के लिए मैंने उनकी मूर्ति सजाई है। यह जो बिस्किट वाला शिवलिंग है।।।इसके जरिए हम लोगों को खाना बचाने का संदेश दे रहे हैं। लोग ये समझेंगे कि बिगाड़ने के बजाए भूखों-जरूरतमंदों में वितरित करना चाहिए।"

आगे बात करते हुए शिवलिंग बनाने वाली राधिका सोनी ने कहा, "बड़े आकार के शिवलिंग को बनाने में हमने 1,008 बिस्किट के पैकेट इस्तेमाल किए हैं।" इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा कि, 'वैदरा में बिस्किट के गणेशजी की मूर्ति को प्रतिष्ठित किया जाता है। ऐसे में हमने शिवलिंग भी बनाया और गणेशजी की लघु-प्रतिमा भी विराजित की गई है। उनके आभूषण भी हैं।' वहीं जब उनसे पूछा गया कि इस तरह का शिवलिंग बनाने की वजह क्या है? तो इसके जवाब में राधिका सोनी ने कहा, 'मैंने जब सुना कि दुनिया भर में प्रतिदिन भोजन का लगभग 1/3 भाग बर्बाद हो जाता है, लेकिन फिर भी गरीबों को खाना नहीं मिल पाता। ऐसे में हमने भोजन की बर्बादी के बारे में जागरूकता फैलाने का फैसला किया। अब विसर्जन के बाद, हम इसे गरीबों को दान कर देंगे।'

आप सभी को हम यह भी बता दें कि, चंपानेर-पावागढ़ पुरातत्व पार्क को यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल के लिए जाना जाता है। वहीं भू-एक्सपर्ट्स का कहना है कि, चांपानेर का इतिहास दो हजार साल पुराना है और कुछ लोग यहां मौजूद उत्कृष्ट संरचनाओं के कारण इसे प्राचीन स्मार्ट सिटी भी कहते हैं।

योगी सरकार में ज़्यादा सुरक्षित हुईं महिलाएं, अखिलेश यादव बोले- 'PM मोदी डायल 100 का डेटा देखे'

सुप्रीम कोर्ट ने दी हुसैन सागर झील में गणेश प्रतिमा के विसर्जन की अनुमति

तेलंगाना: रेलवे ट्रैक पर मिला 6 वर्षीय बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या करने वाले आरोपी का शव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -