महिलाओं ने सजाई टाट की मटकी, बनाए मांडने

उज्जैन। कोई रोबोट बना, कोई नागिन किसी ने पेड़ बनकर पर्यावरण की रक्षा का संदेश दिया तो किसी ने न्यूज पेपर बनकर अखबारों की जीवन में आवश्यकता बताई, किसी ने शहीद भगतसिंह का किरदार निभाकर देशभक्ति का अलख जगाया तो कोई नरेन्द्र मोदी बनकर आया, एक बच्ची सब्जीवाली बनकर आई जिसने मोदीजी खेत की भिंडी बैची तो इन सबके बीच डेढ़ साल का मासूम बच्चा झाड़ू लेकर स्वच्छता का संदेश देने मंच पर आया।

नजारा था माहेश्वरी मेवाड़ा थोक पंचायत के तत्वावधान में आयोजित चार दिवसीय महेश नवमी महोत्सव के दूसरे दिन शुक्रवार को आयोजित फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता का। जिसमें बच्चे विभिन्न पोशाकों में नजर आए। महिलाओं ने टाट से मटकी सजाई तथा बच्चे तथा बड़ों ने राजस्थानी गीत पर नृत्य प्रस्तुतियां दी।

मीडिया प्रभारी भूपेन्द्र भूतड़ा के अनुसार माहेश्वरी मेवाड़ा थोक पंचायत भवन गोलामंडी में चल रहे महेश नवमी महोत्सव में अध्यक्ष लक्ष्मीनारायण मूंदड़ा, सचिव अरूण भूतड़ा, मुख्य संयोजक संजय सोड़ानी की उपस्थिति में प्रतियोगिताएं आयोजित हुई। दोपहर 12.30 से 1 बजे तक 12 वर्ष तक के बच्चों के लिए राजकुमारी पलोड़ के संयोजन में माचिस की तिली से आकृति बनाओं प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। 

गंगा दशहरा उत्सव पर मां नीलगंगा को अर्पित होगी 110 फीट की चुनरी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -