कपड़े उतार आत्महत्या करने पेड़ पर चढ़ी महिलाएं ?

राजस्थान/आबूरोड। तहसील क्षेत्र के मीन तलेटी गांव में शराबबंदी की मांग पर मुहिम चला रही महिलाओं का गुस्सा फूट पड़ा। महिलाएं पेड़ पर चढ़ गईं व फांसी का फंदा लगा आत्महत्या की धमकी दी। महिलाओं का कहना है कि वे करीब 20 दिन से शराब के खिलाफ आंदोलन कर रही हैं, मगर प्रशासन कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है। उन्होंने जिस दुकान को बंद करवाया उल्टा उसे वापस शुरू करवाया जा रहा है, जबकि शराब कि वजह से हमारे घरों में रोजाना झगड़ा होता है।

बता दे कि इस मामले को लेकर सवेरे महिलाओं ने अंबाजी मार्ग जाम कर दिया। इसके बाद शराब बेचने वाले ठेकेदार को पकड़ा और उसकी जमकर पिटाई कर दी। इस पर भी वे नहीं मानीं और इससे भी आगे का कदम उठा लिया। उन्होंने पहले तो उस शराब ठेकेदार के कपड़े उतार डाले और फिर पेड़ पर चढ़ गईं।महिलाएं तीन अलग अलग पेड़ों पर चढ़ गई। इन महिलाओं ने पेड़ों पर अपनी ओढ़नी से फंदा बना लिया। फंदा अपने गले में डाल उन्होंने आत्महत्या की चेतावनी दे डाली, जिससे वहां मौजूद लोग भी एक बार तो हतप्रभ रह गए। लोगों ने उन्हें काफी समझाया। साथ ही उन्हें इस बात की चिंता थी कि यदि किसी का जरा सा भी पांव फिसल गया तो कुछ भी हो सकता है। गांव वालो ने उन्हें काफी समझाया, लेकिन वे नहीं मानीं।

मामले कि सूचना के बाद प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे। सबसे पहले पहुंचे तहसीलदार और इसके बाद थानाधिकारी ने उन्हें काफी समझाया, लेकिन वे नहीं मानीं। पेड़ पर बैठी महिलाओं से जब समझाइश की गई तो एक महिला रोने लगी। रोते हुए उसने बताया कि शराब के कारण उसका पति पागल हो गया है। तीन बच्चों की परवरिश और उसके इलाज का बोझ उसी पर है। ऐसे में क्या करे। इसके बाद महिलाओं को समझाकर नीचे उतारा गया तथा तहसीलदार ने सभी ज्यूस पिलाया। इस बीच एक महिला की तबीयत बिगड़ गई।

Most Popular

- Sponsored Advert -