इस महिला एसडीएम की पोस्ट हो रही है फेसबुक पर वायरल

Feb 16 2016 08:48 PM
इस महिला एसडीएम की पोस्ट हो रही है फेसबुक पर वायरल

लखनऊ : सफलता पाने के लिया लक्ष्य का होना जरुरी है और साथ ही सफल होने के लिए सटीक दिशा में मेहनत करना भी जरुरी है. यह सच्ची कहानी एक ऐसी लड़की की है, जिसे हर तरफ से नाकामयाबी के बाद भी उनके अभिभावक ने उसका समर्थन किया. वही लड़की अपनी मेहनत और लगन के कारण 'एसडीएम' बन चुकी है. 

बरियापुर की ज्योति सिंह की पोस्टिंग पीसीएस में सिलेक्शन के बाद बहराइच में अतिरिक्त मजिस्ट्रेट के पद पर हुई है. उन्होंने बताया कि लडकियों के पास अपना करियर बनाने का समय बहुत कम होता है. असफलता की स्थिति में उन पर शादी का दबाव ज्यादा होने लगता है. वह गांव की पहली महिला पीसीएस हैं जो एसडीएम बनी है. वह गर्ल्स एजुकेशन को प्रमोट करना चाहती हैं.

 एसडीएम ज्योति सिंह का एक पोस्ट इन दिनों फेसबुक पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है क्योंकि ज्योति ने अपनी फर्स्ट सैलरी का वाउचर पोस्ट किया है. जिसमे उन्होंने अपने एफबी पोस्ट में लिखा 'थैंक्स मम्मी-पापा कि आपने मुझे पढ़ाया, आपका धन्यवाद इसलिए भी कि आपने मेरे नाकामयाब होने पर भी मेरा प्रोत्साहन किया, मुझे अपना रास्ता खुद चुनने, आर्थिक रूप से स्वतंत्र होने और आत्मनिर्भर बनने की आज़ादी दी. मैंने बहुत सोचा कि मैं अपनी फर्स्ट सेलरी का क्या करूं, अंत में निर्णय लिया कि अपनी सारी सेलरी आपको भेज दूं. 

दूसरे पैरेंट्स से मैं यही कहना चाहूंगी कि प्लीज अपनी बेटियों को एजुकेट करें.' ज्योति सिंह के इस कदम से उनकी माँ काफी खुश है. उन्होंने बताया कि उनके पिताजी स्वामी नाथ सिंह मैनपुरी में अपर पुलिस अधीक्षक (एएसपी) हैं.