टॉयलेट न होने पर विवाहिता ने ससुराल छोड़ा, पति भी संग हो चला

लखनऊ: जहां सोच वहां शौचालय, अभिनेत्री विद्दा बालन का ये ऐड कैंपेन तो सबने देखा ही होगा. इस ऐड में एक ऐसी लड़की को भी दिखाया जाता, जिसके ससुराल में शौचालय न होने पर उसने अपना ससुराल ही छोड़ दिया. लेकिन लखनऊ से सटे बीकेटी में गांव चक वनकट में बहु के साथ बेटे ने भी अपना ही घर छोड़ दिया।

विवाहिता का कहना है कि जब तक शौचालय नहीं बन जाता वो अपने ससुराल वापस नहीं आएगी. चक वनकट निवासी किसान महावीर लोधी पेशे से मजदूर है. उनके परिवार में पत्नी महादेई, पुत्र दिनेश कुमार, सुरेश कुमार, कमलेश है. मंझले बेटे सुरेश की शादी अप्रैल 2014 में मायादेवी से हुई थी।

माया 8वीं पास है, जब वो ससुराल पहुंची, तो देखा ससुराल में शौचालय नहीं है, तो उसने हंगामा मचा दिया. ग्रामीणों ने समझाकर विवाहिता का हंगामा तो शांत करा दिया, लेकिन अगले दिन माया अपने मायके चली गई। पत्नी के पीछे पति भी पहुंच गया और तब से दोनों वहीं रह रहे है।

परिवार के लोग अब माया को मनाने और जल्दी शौचालय बनाकर घर वापस लाने की तैयारी में है. गांव के प्रधान सुंदरलाल के घर में भी टॉयलेट नहीं है. मजदूर महावीर लोधी के घर की हालत देख और अपने पुत्र की शादी तय होने पर प्रधान ने भी घर में शौचालय बनवाना शुरु कर दिया है।

खंड विकास अधिकारी सुशील कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि पंचायत के सभी घरों में शौचालय बनाने के लिए एक योजना शुरु की गई है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -