शीतकालीन सत्र: कामकाज की सुगमता के लिए सरकार ने बुलाई सर्वदलीय बैठक

Dec 08 2018 08:57 AM
शीतकालीन सत्र: कामकाज की सुगमता के लिए सरकार ने बुलाई सर्वदलीय बैठक

नई दिल्ली: संसद के शीतकालीन सत्र से पहले दोनों सदन में कामकाज की सुगमता के लिए सहमति बनाने के हिसाब से सरकार ने सोमवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई है. संसदीय कार्य मंत्रालय द्वारा परंपरागत रूप से संसद सत्र के प्रारम्भ की पूर्व संध्या पर होने वाली बैठक में सामान्य तौर पर पीएम सरकार का अजेंडे के बारे में बताते हैं और सरकारी कामकाज के लिए विपक्ष से समर्थन की मांग करते हैं.

कहां से आती है वोट देने के बाद लगाई जाने वाली स्याही? आप भी जान लीजिये

यह लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार का अंतिम संपूर्ण सत्र होगा. पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के नतीजे संसद की कार्यवाही पर प्रभाव डाल सकते हैं, जहां भाजपा और कांग्रेस की इज्जत दांव पर लगी है. मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम में विधानसभा चुनाव के नतीजे 11 दिसंबर को आने वाले हैं और इसी दिन संसद सत्र शुरू होगा. 

राजस्थान चुनाव: हिंसा और झड़प के बाद भी 3 बजे तक 59.43 प्रतिशत दर्ज हुआ मतदान

इस शीतकालीन सत्र में सरकार राज्यसभा में लंबित पड़े ‘तीन तलाक’ विधेयक पारित करने पर जोर देगी. हालाँकि सरकार ने तीन तलाक को रोकने के लिए अध्यादेश लागू कर दिया है. आपको बता दें कि सामान्य रूप से शीतकालीन सत्र नवंबर में शुरू हो जाता है. हालांकि लगातार दूसरी साल इस बार इसकी शुरूआत दिसंबर में होगी. पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने के कारण इस साल सत्र देरी से शुरू हो रहा है.

खबरें और भी:-

जगदलपुर कलेक्टर ने ली जिम्मेदारी कहा पूरी तरह सुरक्षित हैं स्ट्रांग रूम में रखी ईवीएम

विधानसभा चुनाव: राजस्थान के सीकर में मतदान के दौरान मचा बवाल

तेलंगाना चुनाव: कांग्रेस प्रत्याशी रेड्डी पर अज्ञात बदमाशों ने किया हमला. हैदराबाद अस्पताल में चल रहा उपचार