आज से शुरू हुआ MP विधानसभा का 5 दिवसीय शीतकालीन सत्र

भोपाल: मध्यप्रदेश विधानसभा का 5 दिवसीय शीतकालीन सत्र का आज यानी मंगलवार को दूसरा दिन है। आप सभी को बता दें कि मध्य प्रदेश विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन मध्य प्रदेश विधानसभा में अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) के आरक्षण को लेकर बहस शुरू हो गई है, कांग्रेस ने परिसीमन निरस्त करने और ओबीसी आरक्षण को लेकर स्थगन प्रस्‍ताव पर चर्चा की मांग की। वहीं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस नेता कमलनाथ के चर्चा के प्रस्ताव को विधानसभा अध्यक्ष ने स्वीकार कर लिया।

आप सभी को हम यह भी बता दें कि, मध्यप्रदेश विधानसभा में आज अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) को आरक्षण के मुद्दे पर मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस की ओर से स्थगन प्रस्ताव लाया गया। वहीं शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन आज कार्यवाही प्रारंभ होते ही कांग्रेस ने ओबीसी आरक्षण का मामला उठाया गया और इस पर विधिवत स्थगन प्रस्ताव पेश किया। यहाँ शोरशराबे के बीच सत्तारूढ़ दल भाजपा ने कहा कि 'सरकार स्थगन प्रस्ताव पर चर्चा के लिए तैयार है। इसके बाद सदन में प्रस्ताव पर चर्चा प्रारंभ हुयी।'

वहीं इस दौरान सदस्यों के एकसाथ बोलने के बीच भाजपा-कांग्रेस सदस्यों में ओबीसी आरक्षण के मुद्दे पर श्रेय लेने की होड़ दिखायी दी। आप सभी को बता दें कि कांग्रेस ने पंचायत चुनावों में OBC आरक्षण के मसले पर चर्चा के लिए स्थगन प्रस्ताव दिया था, सुप्रीम कोर्ट ने OBC आरक्षण पर रोक लगाई है। आपको बता दें कि आज मध्य प्रदेश विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्थगन प्रस्ताव पर चर्चा कराने पर सहमति जताई। वहीं विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने स्‍थगन प्रस्‍ताव को स्‍वीकार कर लिया है। यहाँ पक्ष और विपक्ष नोक झोंक चल रही है। इस दौरान कमलनाथ ने कहा- 'कोई कोर्ट गया तो क्यों गया।' वहीं प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा- 'अगर उन्होंने आरक्षण पर कुछ गलत कहा है तो इस्तीफा देने के लिए तैयार हैं।'

महामारी की परवाह किए बिना फिनलैंड की अर्थव्यवस्था मजबूत: इको सर्वे

'मैं मुग़ल खानदान की बहु, लाल किला हमें सौंपा जाए..', दिल्ली हाई कोर्ट में महिला की याचिका

सर्दी में हीटर से बचकर! मकान में धमाके के साथ लगी आग

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -