क्या बंगाल में लागू होगा राष्ट्रपति शासन ? हिंसा पर NHRC की रिपोर्ट आते ही दिल्ली रवाना हुए गवर्नर

कोलकाता: पश्चिम बंगाल के गवर्नर जगदीप धनखड़ शनिवार सुबह अचानक दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं. बताया जा रहा है कि गवर्नर ने यह कदम कोलकाता उच्च न्यायालय में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) की बंगाल चुनाव के बाद भड़की हिंसा पर रिपोर्ट दाखिल करने के बाद उठाया है, गवर्नर के इस कदम को बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू करने से जोड़कर भी देखा जा रहा है. बता दें कि बंगाल में विधानसभा चुनाव के बाद हिंसा भड़क गई थी.

इस मामले में NHRC ने कोलकाता उच्च न्यायालय में अपनी जांच रिपोर्ट जमा कर दी है. इस रिपोर्ट में बंगाल हिंसा की जांच CBI द्वारा कराए जाने ने की सिफारिश की गई है. इस रिपोर्ट पर संज्ञान लेते हुए कोलकाता उच्च न्यायालय ने कहा कि, वह चुनाव के बाद भड़की हिंसा पर 22 जुलाई को सुनवाई करेगा. साथ ही अदालत ने NHRC से अपनी रिपोर्ट की सॉफ्ट कॉपी राज्य सरकार और याचिकर्ताओं के साथ साझा करने को कहा है. उल्लेखनीय है कि इससे पहले अदालत ने 18 जून को NHRC को बंगाल में चुनाव बाद भड़की हिंसा की जांच के लिए कमेटी का गठन करने और हिंसा में मानवाधिकार उल्लंघन के सभी मामले की जांच करने का आदेश दिया था. 

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव में TMC की भाजपा पर जीत के बाद कई हिस्सों में हिंसा भड़की थी. हिंसा के बाद उच्च न्यायालय में कई याचिकाएं दायर की गई थीं. इन याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए अदालत ने चुनाव के बाद की हिंसा की जांच NHRC से कराने का आदेश दिया था. हालांकि, इस आदेश के खिलाफ पश्चिम बंगाल सरकार ने याचिका दाखिल की थी. किन्तु कोलकाता उच्च न्यायालय ने सरकार की अपील को ख़ारिज कर दिया था.   

सरकार का बड़ा फैसला, इंजीनियरिंग के कॉलेजों में अब 11 क्षेत्रीय भाषाओं में होंगे कोर्स

पाकिस्तान और उज्बेकिस्तान ने द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ावा देने के लिए बनाई योजना

'एक दूसरे की ताकत बनेंगे, न डरे हैं और न डरेंगे', - कांग्रेस कार्यकर्ताओं को राहुल गांधी ने दिया मंत्र

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -