क्या महाराष्ट्र में होंगे मध्यावधि चुनाव ? तैयारी में जुटे उद्धव, लेकिन शरद पवार 'निश्चिन्त'

क्या महाराष्ट्र में होंगे मध्यावधि चुनाव ? तैयारी में जुटे उद्धव, लेकिन शरद पवार 'निश्चिन्त'
Share:

मुंबई: महाराष्ट्र के 2 विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव के लिए 26 फरवरी को मतदान होना है। पुणे के कसबा और पिंपरी चिंचवड की सीट पर हो रहे उपचुनाव के लिए आज (24 फरवरी) की शाम को प्रचार थम जाएगा। इसी बीच शिवसेना के शिंदे-ठाकरे विवाद पर सर्वोच्च न्यायालय में सुनवाई भी जारी है। कल तक सुप्रीम कोर्ट में निरंतर 3 दिनों तक इस मामले पर सुनवाई हुई। अब दो सप्ताह बाद सुनवाई होगी। इस दौरान फेसबुक लाइव आकर उद्धव ठाकरे ने शिवसैनिकों को संबोधित करते हुए कहा कि मध्यावधि चुनाव की तैयारी शुरू करें। वहीं, दूसरी तरफ NCP प्रमुख शरद पवार ने उद्धव के बयान से उलट मध्यावधि चुनाव की संभावनाओं से इनकार किया।

हालाँकि, संजय राउत ने उद्धव के मध्यावधि चुनाव होने की बात का समर्थन किया है। राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि उद्धव ठाकरे ने जो मध्यावधि चुनाव होने की बात कही है, वो तथ्यों पर आधारित है। उद्धव ने अपने फेसबुल लाइव के माध्यम से गुरुवार को किए गए संबोधन में कहा कि पूरी संभावना है कि सर्वोच्च न्यायालय अपने फैसले में एकनाथ शिंदे सहित उनके समर्थक 16 विधायकों की विधायकी को अयोग्य घोषित कर दे। इससे शिंदे सरकार अल्पमत में आ जाएगी और विधानसभा के बजट सत्र के बाद महाराष्ट्र में मध्यावधि चुनाव की घोषणा हो जाएगी। दरअसल, उद्धव गुरुवार को फेसबुक लाइव आकर महाराष्ट्र में पुणे के कसबा सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी और चिंचवड़ सीट पर NCP प्रत्याशी के समर्थन में अपने कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। 

इस दौरान उन्होंने कहा कि, ‘आप (एकनाथ शिंदे के समर्थक) अपने चोरी किए हुए तीर-कमान लेकर आ जाएं, हम अपनी मशाल (चुनाव चिन्ह) लेकर आते हैं। आज कसबा में कांग्रेस और चिंचवड़ में NCP के प्रत्याशी को जीत दिलानी ही होगी। मेरा अनुमान है कि हम विधानसभा के लिए मध्यावधि चुनाव की तरफ बढ़ रहे हैं। क्योंकि 16 विधायकों (शिंदे समर्थक) की अयोग्यता के मुद्दे पर सर्वोच्च न्यायालय में सुनवाई जारी है। यदि वे अयोग्य साबित हुए तो राज्य में मध्यावधि चुनाव होना पक्का है।’ वहीं, शरद पवार अपने सहयोगी उद्धव की बात से इत्तिफाक नहीं रख रहे हैं। पवार ने मध्यावधि चुनाव की आशंकाओं पर कहा कि फिलहाल शिंदे सरकार को कोई खतरा नहीं है और इसके पास काफी ताकत है। यह अपनी पूरी ताकत का इस्तेमाल करेगी और महाराष्ट्र में मध्यावधि चुनाव की संभावनाएं नहीं दिख रही हैं।

नागालैंड के मंत्री के मुरीद हुए पीएम मोदी, बोले- मैं खुद भी उनके वीडियो देखता हूँ..

CM शिवराज ने दी महिलाओं को घर पर 'लट्ठ रखने' की सलाह, जानिए क्यों?

'AAP में घुट रहा था दम..', केजरीवाल की पार्टी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाकर भाजपा में शामिल हुए पवन सहरावत

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -