धनंजय मुंडे ने समीर वानखेड़े को लेकर कहा- ''फर्जी जाति प्रमाणपत्र केस में वानखेडे़ के खिलाफ...."

मुंबई: आर्यन खान ड्रग्स केस में NCB डायरेक्टर समीर वानखेड़े के विरुद्ध कई संगीन इलज़ाम लगाए जा रहे हैं. उनपर नौकरी के लिए गलत तरीके से अनुसूचित जाति के कोटे का उपयोग करने का इलज़ाम भी सामने आया है. अब फर्जी जाति प्रमाण पत्र को लेकर महाराष्ट्र गवर्नमेंट ने बोला है कि शिकायत मिलने पर वानखेडे़ के विरुद्ध कार्रवाई की जाने वाली है. महाराष्ट्र गवर्नमेंट के सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे ने रविवार को पुणे में एक कार्यक्रम में बोला ''समीर वानखेड़े के जाति प्रमाण पर अगर कोई आपत्ति करेगा तो हमारा विभाग उसकी शिकायत की कार्रवाई की जाने वाली है.''

फर्जी जाति प्रमाणपत्र के इस्तेमाल का आरोप: मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार आर्यन ड्रग्स केस में NCB  के जोनल डायरेक्टर पर कई गंभीर इलज़ाम मंत्री नवाब मलिक की ओर से लगाए जा रहे है. नवाब मलिक ने हाल ही में यह कहा है कि समीर वानखेड़े मुस्लिम धर्म से सम्बन्ध रखते हैं. लेकिन उन्होंने फर्जी अनुसूचित जाति के प्रमाण के आधार पर IRS की नौकरी को हासिल कर ली है. जहां इस बात का पता चला है कि मलिक ने अपने दावे के पक्ष में सबूत दे डाला है, उन्होंने समीर वानखेड़ का जन्म प्रमाणपत्र भी पेश कर दिया है. इसके अतिरिक्त नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े की पहली शादी की कथित फोटोज भी पेश कर दी है.

परिवार ने किया खंडन; हम बता दें कि समीर वानखेड़े की पत्नी क्रांति रेडकर ने  इल्ज़ामों को गलत बता दिया है. क्रांति का बोलना है कि उनके पति को गलत तरीके से टारगेट किया जा रहा है. समीर वानखेड़े ने पहली पत्नी को तलाक देने के बाद रेडकर से शादी की थी. अगर वानखेड़े जांच में दोषी साबित होते हैं तो उन्हें नौकरी से भी हाथ धोना होगा, साथ ही उनपर आपराधिक मुकदमा भी चल सकता है.

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -