क्या ब्याज दरों में होगा बदलाव ? मौद्रिक नीति का ऐलान कर रहे RBI गवर्नर शक्तिकांत दास

नई दिल्ली: भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर आज सुबह 10 बजे मौद्रिक नीति समिति (MPC) बैठक के नतीजों का ऐलान कर रहे हैं। MPC की यह तीन दिवसीय बैठक बुधवार को आरंभ हुई थी। उम्मीद जताई जा रही है कि MPC कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के प्रकोप के कारण उत्पन्न हुई अनिश्चितता के कारण नीतिगत दरों में यथास्थिति बरकरार रखने का निर्णय कर सकती है। MPC द्वारा मुद्रास्फीति में तेजी की आशंका के चलते भी इस दौरान ब्याज दरों में किसी परिवर्तन की उम्मीद कम है।

RBI ने अप्रैल में हुई पिछली MPC मीटिंग में प्रमुख ब्याज दरों में कोई संशोधन नहीं किया था। बता दें कि मौजूदा समय रेपो दर चार फीसद पर और रिवर्स रेपो दर 3.35 फीसद पर है। ब्रिकवर्क रेटिंग्स के मुख्य आर्थिक सलाहकार एम गोविंदा राव ने कहा कि उम्मीद से बेहतर GDP के आंकड़ों से MPC को बढ़ोतरी के मोर्चे पर थोड़ी राहत मिली है। उन्होंने कहा कि हालांकि देश के कई हिस्सों में लागू किए गए आंशिक लॉकडाउन जैसे प्रतिबंधों के कारण वृद्धि को लेकर नकारात्मक जोखिम तेज हो गए हैं।

उन्होंने कहा ऐसे में संभावना है कि RBI अपने उदार मौद्रिक नीति रुख को जारी रखेगा और सतर्क दृष्टिकोण के साथ रेपो दर को चार फीसद पर बरक़रार रखेगा। हाउसिंग डॉट कॉम, मकान डॉट कॉम और प्रॉपटाइगर डॉट कॉम के ग्रुप सीईओ ध्रुव अग्रवाल का कहना ​​है कि रिज़र्व बैंक मुद्रास्फीति को काबू में रखने के अपने प्रमुख लक्ष्य को खतरे में डाले बिना अपने उदार रुख को बरकरार रख सकता है।

लॉकडाउन पर अंकुश! भारत के सेवा क्षेत्र की गतिविधि मई में 8 महीने में पहली बार हुई अनुबंधित

नीति आयोग ने की बैंक ऑफ महाराष्ट्र और सेंट्रल बैंक के शीर्ष उम्मीदवारों की सूची प्रस्तुत

बिलबोर्ड के हॉट 100 के नंबर 1 पर बीटीएस सॉन्ग 'बटर' ने किया डेब्यू

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -