इंडोनेशिया : अब तक 3293 लोग हुए कोरोना से संक्रमित, मौत का आंकड़ा बना चिंता का विषय

दुनियाभर के 180 देशों के अलावा इंडोनेशिया में भी कोरोना का कहर जारी है. एशियाई मुल्‍कों में चीन के बाद इंडोनेशिया ऐसा दूसरा देश है, जहां सर्वाधिक मौतें हुई हैं. यहां अब तक 280 कोरोनों संक्रमितों की जानें जा चुकी हैं, जबकि 3293 वायरस से संक्रमित हैं. इंडोनिशयाई सरकार सबसे बड़ी चिंता यह है कि व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) की कमी के कारण 26 डॉक्टरों की और नौ नर्सों की जान जा चुकी है. इस क्रम में बता दें कि यूरोप के इटली में कोरोना संक्रमितों की संख्या 140,000 के करीब है, 96 डॉक्टरों की मृत्यु हो चुकी है. लेकिन इंडोनेशिया में डॉक्टरों की मौत के आंकड़ों को देखते हुए कहा जा सकता है कि 26 करोड़ की आबादी वाला यह मुल्‍क इस महामारी से निपटने के लिए कतई तैयार नहीं था. 

कोरोना ख़त्म होने के बाद क्या होगा दुनिया का हाल ? लोगों के मन में बड़ा सवाल

इस मामले को लेकर इंडोनेशियन मेडिकल एसोसिएशन के प्रेजो सिदिप्रतोमो ने कहा कि शुरुआत में इंडोनेशिया इस बीमारी से निपटने के लिए अच्छी तरह से तैयार नहीं था. हमारे पास व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) भी नहीं थे. यही कारण है कि इतने सारे डॉक्टरों की मृत्यु हो गई है. हालांकि, इंडोनेशिया के स्वास्थ्य मंत्रालय और कोरोना वायरस टास्कफोर्स ने डॉक्टरों की मौतों पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया. 

कोरोना: गरीबी के गर्त में डूब जाएगी आधी अरब आबादी, ध्वस्त हो जाएगी दुनियाभर की अर्थव्यवस्था

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो ने मरने वाले डॉक्टरों के लिए शोक व्यक्त किया और  उनके समर्पण की प्रशंसा की. उन्होंने चिकित्सा पेशेवरों के लिए वित्तीय प्रोत्साहन और बीमारी से मारे गए श्रमिकों के परिवारों के लिए भुगतान की घोषणा की. विडोडो ने एक बार फ‍िर देश में सख्त लॉकडाउन का विरोध किया है. उन्‍होंने कोरोना से निपटने के लिए लॉकडाउन के बजाए इंडोनेशियाई को सामाजिक दूरी करने के उपायों को अपनाने एवं घर पर रहने का आग्रह किया.

इस देश ने कोरोना पर लगाई लगाम, 39 साल की पीएम ने किया शानदार काम

सऊदी के शाही परिवार पर 'कोरोना' का हमला, आइसोलेशन में गए किंग सलमान

कोरोना से पाक के हाल बेहाल, संक्रमितों की संख्या में हुई खौफनाक बढ़ोतरी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -