भूलकर भी ससुराल में इस समय ना रखे खुले बाल वरना बर्बाद हो जाएगा सब कुछ

शास्त्रों में कई ऐसी बातों के बारे में बताया गया है जो हम सभी को पता होना चाहिए। शास्त्रों में केश यानि कि बाल को लेकर भी कई बातें बताई गई है। जी दरअसल बाल महिलाओं का श्रृंगार होते हैं और यह उनको खूबसूरती प्रदान करते हैं। हालाँकि स्त्रियों द्वारा बालों को लेकर कुछ गलतियां कर दी जाती है जो उनका जीवन बर्बाद कर देती है। आज हम आपको उन्ही के बारे में बताने जा रहे हैं। जी दरअसल ज्योतिष शास्त्र में बालों को खोलकर महिलाओं के द्वारा कुछ ऐसे कामों को करना वर्जित माना गया है। जिनको करने से जीवन में दुर्भाग्य आता है। तो अब हम आपको बताते हैं कौन से वो काम है जिनको बाल खोलकर भूलकर भी करना चाहिए।

* महिलाओं को बाल खोलकर कभी भी पूजा-पाठ नहीं करना चाहिए। जी दरअसल शास्त्रों में महिलाओं का बाल खोलकर पूजा-पाठ करना अशुभ माना गया है। कहा जाता है बाल खोलकर पूजा-पाठ करने परिवार की सुख-समृद्धि चली जाती है।

* ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक महिलाओं को कभी भी बाल खोलकर भोजन नहीं बनाना चाहिए। जी हाँ, क्योंकि ऐसा करने से भोजन में नकारात्मकता का वास होता है। इसी के साथ ही आपको बता दें कि जिस भोजन में बाल हो उसे उसी समय त्याग देना चाहिए।

* ज्योतिष शास्त्र के अनुसार संध्या के समय किसी भी स्त्री को बाल खोलकर बाहर नहीं जाना चाहिए। इसके अलावा सूर्यास्त के बाद बालों को खोलकर दहलीज पर नहीं बैठना चाहिए। इससे जीवन में दुर्भाग्य आता है। ऐसा करना अनजान शक्तियों को आकर्षित करता है

* कभी भी दोनों हाथों से सिर नहीं खुजलाना चाहिए फिर चाहे वो महिला हो या पुरुष।

* शास्त्रों के अनुसार रात में बाल खोलकर सोने से परिवार पर इसका दुष्प्रभाव पड़ता है।

* पौराणिक मान्यताओं अनुसार जब माता सीता का विवाह भगवान राम से हुआ था, तब उनकी माता ने उनके बाल बांधते हुए कहा था कि कभी बालों को खुला मत रखना क्योंकि बंधे हुए बाल हमेशा रिश्तों को बांधकर रखते हैं। जी हाँ, इसी के साथ महिलाओं को केवल बाल तब ही खुले रखने चाहिए जब वह एकांत में अपने पति के साथ हो।

17 अगस्त को है सिंह संक्रांति, जानिए इसका महत्व

भाद्रपद संकष्टी चतुर्थी पर करें इन गुप्त मन्त्रों का जाप, हर दुःख होगा दूर

जीवन में चाहिए शांति-सुकून तो रविवार को करें यह खास उपाय

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -