फोक्सवैगन की लाखों गाड़ियां कब्रिस्तान में क्यों खड़ी है

फोक्सवैगन की लाखों गाड़ियां कब्रिस्तान में क्यों खड़ी है

ऑटो कंपनियों की अपनी मुश्किलें होती है, जिनसे पार पाते हुए कंपनिया ग्राहकों के लिए एक बेहतर उत्पाद तैयार करती है. मगर कार मैनुफैक्चरिंग कंपनी फोक्सवैगन को अमेरिका में अजीब-ओ-गरीब समस्या से दो-दो हाथ करने पड़ रहे हैं. दरअसल फोक्सवैगन के पास अमेरिका में गाड़ी खड़ी करने के लिए जगह ही नहीं बची है. अमेरिका में जगह की कमी के चलते फोक्सवैगन कंपनी ने कब्रिस्तान से लेकर स्टेडियमों में लाखों गाड़ियां खड़ी कर रखी हैं.

जर्मनी की कार कंपनी फोक्सवैगन ने कैलिफोर्निया के रेगिस्तान से लेकर पुराने पेपर मिल और फुटबॉल स्टेडियम में 3 लाख से ज्यादा गाड़ियां खड़ी कर रखी हैं. फोक्‍सवैगन के पास अमेरि‍का में करीब 37 सि‍क्‍योर स्‍टोरेज फैसि‍लि‍टीज हैं. इनमें 3 लाख गाड़ियां खड़ी हैं. ये गाड़ियां डेट्रॉयट फुटबॉल स्‍टेडि‍यम, पूर्व मि‍नेसोटा पेपर मि‍ल और कैलि‍फोर्नि‍या के कब्रि‍स्‍तान में खड़ी हैं. फोक्सवैगन ने अपने बयान में कहा है कि वि‍क्‍टोरवेली, कैलि‍फोर्नि‍या में स्‍टोरेज फैसि‍लि‍टी कई लॉट्स में से एक है. यहां गाड़ियों को सुरक्षि‍त रखा गया है.

इन गाड़ियों को फोक्‍सवैगन के डीजल सेटलमेंट्स की शर्तों के तहत वापस मंगवाया गया है. इस बात का पता हाल ही में एक कोर्ट फाइलिंग में पता चला है. इसमें बताया गया है कि कंपनी ने फरवरी से 3 लाख अमेरि‍की डीजल गाड़ियों को बाय बैक करने के लि‍ए 7.4 अरब डॉलर से ज्‍यादा का भुगतान कि‍या है. अब देखते है कंपनी इस तकलीफ से कैसे निजात पाती है. 

 

जल्द ही लांच होगी हीरो की ऑफ रोड बाइक 'XPulse 200'

बजाज ऑटो की नई पल्सर अब 250cc इंजन में

लग्जरी गाड़ियों की बिक्री में गिरावट का अंदेशा

 

?