1984 सिख नरसंहार के आरोपित 'जगदीश टाइटलर' को कांग्रेस कमिटी में जगह क्यों ?

नई दिल्ली: दिल्ली कांग्रेस कमेटी में स्थायी आमंत्रित सदस्यों की लिस्ट को लेकर हंगामा मचा हुआ है. यह बवाल सूची में जगदीश टाइटलर के नाम को लेकर मचा है, जो वर्ष 1984 में हुए सिख विरोधी दंगे में आरोपी थे. अब भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रवक्ता गौरव भाटिया ने इस मसले पर कांग्रेस और कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी पर निशाना साधा है.

गौरव भाटिया ने आगे कहा कि दिल्ली कांग्रेस की प्रदेश कमेटी में स्थायी आमंत्रित सदस्यों की इस लिस्ट से पूरे भारत में आक्रोश पैदा हो गया है. इस लिस्ट में छठे नंबर पर जगदीश टाइटलर का नाम है. टाइटलर 1984 के नरसंहार का आरोपी है. उन्होंने कहा कि टाइटलर को सोनिया गांधी ने दिल्ली कमिटी का स्थायी आमंत्रित सदस्य नियुक्त किया है. गौरव भाटिया ने कहा कि सिख पीड़ितों के घाव तो नहीं भर पाए, न्याय नहीं दिला पाए, मगर पंजे ने अपने नाखुन निकाले और जख्मों को कुरेदने का, कांग्रेस पार्टी और गांधी परिवार ने उन जख्मों पर नमक छिड़कने का काम किया है.

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस 1984 दंगों के आरोपियों के साथ खड़ी है. राजीव गांधी ने कहा था कि 'बड़ा पेड़ गिरने पर धरती हिलती है.' सैम पित्रोदा का कहना था कि 'हुआ तो हुआ'. गौरव भाटिया ने आगे कहा कि यदि सोनिया ने दिल्ली उच्च न्यायालय का फैसला पढ़ा होता तो इस लिस्ट को मंजूरी देने से पहले सोनिया गांधी के हाथ कांप जाते. सियासी गिद्ध जो गांधी परिवार से हैं, वे लखीमपुर तो पहुंच गए, मगर अब राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और चरणजीत सिंह चन्नी से ये सवाल किया जा रहा है कि टाइटलर को ये सम्मान देना उचित है?

UNSC में उप स्थायी प्रतिनिधि ने कहा- "भारत सशस्त्र संघर्ष में शिक्षा के संरक्षण का दृढ़ता से समर्थन...."

'कांग्रेस की बैठक में भी सुरक्षित नहीं महिला', और अधिकार देने की बात करते है राहुल गाँधी

मुख्यमंत्री दुर्घटना बीमा योजना लागू करेगी योगी सरकार, यूपी के मजदूरों-कामगारों को मिलेगा ये लाभ

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -