अंडरगारमेंट्स में नमी और रगड़ से इस तरह प्रभावित होता है मनुष्य का शरीर

अंडरगारमेंट्स में नमी और रगड़ से इस तरह प्रभावित होता है मनुष्य का शरीर

यह बड़ी ही नॉर्मल बात है और सभी इसका एक्सपीरियंस कर चुके हैं कि मनुष्यों के प्राइवेट पार्ट्स का रंग ज़रा गहरा होता है. शरीर के बाकी अंगों की तुलना में मनुष्यों के गुप्तांगों का रंग थोड़ा गहरा होता है यानी काला होता है. इनमें केवल प्राइवेट पार्ट्स ही शामिल नहीं है. प्राइवेट पार्ट्स के आसपास के हिस्से जैसे इनर थाई और बट्स का रंग भी गहरे शेड का होता है. प्राइवेट पार्ट्स मनुष्य के बेहद ही निजी अंग होते हैं, जिसे चाहे दिन हो या रात, अंडरआर्म हो, योनि या फिर आंतरिक जांघ इसे ढँक कर ही रखना होता है.

देखा जाता है कि व्यस्तता के कारण अंडरगारमेन्ट्स को बहुत देर तक सूखा रख पाना बहुत मुश्किल. उसी प्रकार से महिलाओं के यूरीन करने के बाद उन्हें उनकी पैंटी को सूखा रख पाना एक तरह से असंभव ही रहता है. डॉक्टर्स बताते हैं कि यदि महिलाएं दिन में 2-3 बार यदि पैंटी चेंज ना करें तो प्राइवेट की गन्दगी, नमी ओर लगातार रगड़ की वजह से प्राइवेट पार्ट्स काले हो जाते हैं.

प्राइवेट पार्ट्स तो ठीक है. लेकिन रगड़ ओर नमी यदि निरंतर रहे तो इससे आंतरिक जाँघे भी काली हो जाती हैं. युवावस्था में आते ही एक समय के बाद प्राइवेट पार्ट्स पर बाल आना शुरू हो जाते हैं. शरीर के बाकी हिस्सों की तुलना में यह बाल काफी मज़बूत और काले होते हैं. इनके इस तरह जटिल और काले होने के कारण भी गुप्तांग काले पढ़ने लगते हैं.

पुरुष के उत्तेजित लिंग की अभी तक की सबसे ज्यादा लम्बाई

ज्यादा पैसा कमाने के चक्कर में पार्टनर्स में हो सकता है अलगाव

टाइट कपड़े और कम हवा के कारण प्राइवेट पार्ट्स का गहराता है रंग

?