आखिर क्यों होते है एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर

हम आए दिन कई एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के बारे में सुनते है. जब हम सभी प्यार की कद्र करते है तो एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर की स्थिति क्यों बनती है. इस बारे में बायोकेमिस्ट हेलेन फिशर कहती है, प्यार वास्तव में एक भावना नहीं बल्कि उससे कही अधिक एक ब्रेन सिस्टम है. तीन ब्रेन सिस्टम है, सबसे पहली है सेक्स की इच्छा, दूसरी है रोमांटिक प्यार और तीसरी है साथी से लगाव.

इसका कारण है वासना, इसमें दोनों पार्टनर एक दूसरे से सिर्फ सेक्स की ख्वाहिश रखते है. ऐसे संबंध अक्सर उत्तेजना खत्म होने के साथ ही टूट जाते है. यह ज्यादा लंबे समय तक नहीं चलते है. कई बार एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर भावनात्मक कारणों से होते है. ऐसे में वह दोनों हर समय एक दूसरे के बारे में सोचते रहते है. पार्टनर्स के बीच यौन संबंध नहीं होता मगर फिर भी अंतरंग बातें होती है. इन्हे लगातार एक दूसरे से जुड़े रहने की जरूरत महसूस होती है. कई बार इस तरह के अफेयर वर्तमान साथी के प्रति असंतोष के कारण भी होता है.

इस तरह अनजाने में वे इस तरह के अवैध मामले में सुकून तलाशते है. कुछ रिश्ते ऐसे भी होते है जिसमे शरीर और आत्मा दोनों जुड़े होते है. यह वास्तविक रिश्ता होता है. इसमें साथी एक दूसरे के साथ होने पर पूर्णता महसूस करते है. यह शारीरिक और भावनात्मक होने से कही बढ़ कर आध्यात्मिक होता है. इन्हे अलग होने पर बहुत तकलीफ महसूस होती है.

ये भी पढ़े 

कैसे जाने कि उन्हें हो गया है आपसे प्यार

मैरिड लाइफ में स्ट्रेस को हटाए ऐसे

बच्चा क्यों गलत दिशा की तरफ मूड़ जाता है

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -