हर सिंगल शख्स मना पाएगा वैलेंटाइन डे, नहीं पड़ेगी किसी पार्टनर की जरूरत

हर सिंगल शख्स मना पाएगा वैलेंटाइन डे, नहीं पड़ेगी किसी पार्टनर की जरूरत

दुनिया का हर प्रेमी जोड़ा 12 महीनों में बस एक महीना का इंतजार करता है. उस महीने का नाम है फरवरी. फरवरी महीने का सबसे खास दिन है, वैलेंटाइन डे. इस दिन प्रेमी अपनी प्रेमिका को प्यार का इजहार करने का सोचता है. वैलेंटाइन डे को लेकर आम धारणा यह बन गई है कि ये त्यौहार प्रेमी प्रेमिका के लिए है, लेकिन ऐसा बिल्कुल नही है. आपने बचपन में एक दोहा जरूर पढ़ा होगा. जिसमें संत कबीर ने कहा था कि "पोथी पढ़ि पढ़ि जग मुआ, पंडित भया न कोय, ढाई आखर प्रेम का, पढ़े सो पंडित होय". इस दोहे का सार है कि पूजा-पाठ करने से और वेद-पुराण पढ़ने से कोई पंडित नहीं होता है, असली ज्ञानी वह होता है जो पूरे संसार से निसर्वाथ प्यार करता हो.संत कबीर के दोहे से प्यार का मतलब स्पष्ट हो जाता है. इसलिए वैलेंटाइन डे को आप अपने माता-पिता, दोस्तों को साथ भी मना सकते है.

सेक्स के दौरान भूलकर भी न करें यह गलतियां, वरना हो जाएगा कैंसर

क्यों मनाते हैं वैलेंटाइन डे?

माना जाता है कि 270 ईसवीं में रोमन साम्राज्य के दौरान क्लाउडियस गोथिकस द्वितीय नामक राजा राज्य करता था. यह वो राजा था जिसे प्यार और शादी जैसे शब्द से भी नफरत थी और वह इनके सख्त खिलाफ था. राजा के अनुसार प्यार और शादी करने वालें योद्धा ज्यादा देर तक युद्ध में टिक नहीं सकते हैं. प्यार में पड़ने वाले योद्धा अपना लक्ष्य भूल गलत राह में चले जाते है. राजा के अनुसार सैनिक बिना शादी के ज्यादा ताकतवर होते है और इसी को देखते हुए राजा ने बहुत ही क्रूर आदेश दिया. इस आदेश के मुताबिक कोई भी रोमन सैनिक न तो शादी कर पाएगा और न ही प्यार करेगा. उन्होनें रोमन सैनिकों के विवाह पर रोक लगा दी थी.

जानिए अक्सर सेक्स के बाद क्यों आ जाती है पुरुषों को नींद...

संत वैलेंटाइन बना प्यार का मसीहा

जब राजा ने यह रोक लगाई तो इसका विरोध संत वैलेंटाइन ने किया. संत वैलेंटाइन ने राजा के आदेश का विरोध किया और उनके खिलाफ जाकर सैनिकों और प्रजा को प्यार करने के लिए प्रेरित किया. साथ ही उन्होंने सैनिकों की चोरी-चुपके शादी भी कराई लेकिन यह बात जल्द ही राजा को पता चल गई जिसके बाद राजा ने संत वैलेंटाइन को राज दरबार पर बुलाया और संत को क्रिश्चियन धर्म छोड़कर रोमन धर्म अपनाने के लिए कहा. संत वैलेंटाइन यह नहीं चाहता था और उन्होंने इससे इनकार कर दिया और राजा को ही अपना धर्म बदलने की सलाह दे दी. यह सुनने के बाद राजा को बेहद गुस्सा आया और वैलेंटाइन को जान से मार डालने का आदेश दे दिया.

Valentine Day 2020: क्रिकेटर शिखर धवन की पत्नी थी पहले से ही है शादीशुदा और 2 बच्चों की माँ

GAY डेटिंग ऐप को लेकर बड़ा खुलासा, शिकार हुए दिल्ली-NCR बड़े bosses

जानिए क्या होता स्लीप सेक्स, क्या है इसका लक्षण